घुम्मक्कड़

Oldest & Famous Church In India – भारत के पुराने गिरजाघर

0
Oldest-Church-in-India

Oldest Church In India – भारत के सबसे पुराने गिरजाघर यानी चर्च

Oldest Church In India – भारत के (Church In India) सबसे पुराने (Biggest Church In India) और प्रसिद्ध (Church in India Famous) चर्च के इतिहास की जानकारी हिंदी में (Church In Hindi).

Church In Hindi – भारत में कई धर्म एक साथ मिलजुल कर रहते है। भारत में ईसाई धर्म का चलन थॉमस नाम के धर्मदूत से शुरु हुआ था जो 52 ईस्वी में केरल आया था। भारत में ईसाई धर्म की अधिकांश आबादी भी दक्षिण भारत में ही है। हालांकि ईसाई धर्म के गिरजाघर (Church In India) पूरे भारत में है, जिनमें से कई 400 साल से भी अधिक (Oldest Church in India) पुराने है।

यह भी पढ़े – 

Church in India Famous – भारत के प्रसिद्ध चर्च 

अपनी भिन्न-भिन्न भाषाओं, धर्म और पौराणिक रीति-रिवाजों के चलते हमारा देश, यानी भारत पूरी दुनिया में मशहूर है. यहां एक से बढ़कर एक धार्मिक स्थल मौजूद हैं. फिर चाहे वह देश के मंदिर हों, मस्जिदें हों, गुरुद्वारें हों, या फिर (Church In India) गिरिजाघर. हर स्थल का अपना एक महत्व है. यही कारण है कि इन स्थलोंं में एक बड़ी संख्या में लोग दिखाई पड़ते हैं. चलिए आपको बताते है भारत के सबसे पुराने गिरजाघर यानी चर्च – Oldest Church in India कौन से है।

St. Francis Church – सेंट फ्रांसिस चर्च, केरल

सेंट फ्रांसिस चर्च केरल के कोचीन में स्थित भारत के सबसे पुराने (Oldest Church in India) चर्च में से एक है। जिसे 1508 में बनाया गया था। ये चर्च भारत में यूरोपीय शैली का पहला चर्च है। माना जाता है कि यहां पर कुछ समय के लिए वास्कोडिगामा को दफनाया गया था। इस चर्च को साल 1923 में संरक्षित स्मारक अधिनियम 1904 के तहत संरक्षित स्मारक घोषित किया गया था। मौजूदा समय में भारत का पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग इस चर्च की देखरेख करता है।

Basilica of Our Lady of the Mount – माउंट मैरी चर्च, मुंबई

माउंट मैरी चर्च मुंबई स्थित एक (Church in India Famous ) प्रसिद्ध चर्च है। ये चर्च ईसाईओँ के भगवान यीशु की मां को समर्पित है। इस चर्च को साल 1640 में बनाया गया था। लेकिन इसे बाद में ध्वस्त कर दिया गया। जिसके बाद इस चर्च का पुन निर्माण 1761 में दोबारा कराया गया है। माउंट मैरी चर्च में हर साल सितम्बर के महीने में मेला भी लगता है जिसमें हर धर्म के लोग आते है।

Basilica of Bom Jesus – बेसीलिका ऑफ बोम जीसस चर्च

बेसीलिका ऑफ बोम जीसस चर्च गोवा में स्थित भारत के सबसे पुराने (Oldest Church in India) चर्च में से एक है। बोम जीसस का मतलब यहां पर शिशु जीसस से है इस चर्च में गोवा के सरंक्षक संत सेंट फ्रांसिस जेवियर के अवशेष आज भी रखे हुए है आपको बता दें सेंट फ्रांसिस जेवियर की मृत्यु ईस्वी में हुई थी। और ये चर्च भी उतना ही पुराना है।

Se Cathedral – सेंट कैथेड्रल, गोवा

Church in India Famous – सेंट कैथेड्रल गोवा ऐतिहासिक चर्चों में से एक है जिसका निर्माण 1619 में कराया गया था। इसे पुर्तगालियों के शासनकाल सबसे रोमन कैथोलिकों ने बनाया था। गोवा का ये चर्च एशिया का सबसे बड़ा (Biggest Church In India) चर्च है । जिसकी लम्बाई 250 फीट और चौड़ाई 181 फीट है।

यह भी पढ़े – गोवा में घूमने लायक दर्शनीय स्थल – Tourist Places Of Goa

St. Francis of Assisi Church – सेंट फ्रांसिसी आसिसी चर्च, गोवा

सेंट फ्रांसिसी आसिसी चर्च भी गोवा में स्थित है और भारत के सबसे लोकप्रिय और (Church in India Famous) प्रसिद्ध चर्चों में से एक है। इसका निर्माणा साल 1661 में पुर्तगालियों ने करवाया था। इस चर्च में पांच कलात्मक घंटिया है जिनमें से एक सोने की घंटी है।

Christ Church – क्राइस्ट चर्च, शिमला

क्राइस्ट चर्च भारत के सबसे पुराने चर्चों (Oldest Church in India) में से एक है जो हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में स्थित है इस चर्च को 1857 में ब्रिटिश ने बनवाया था। इस चर्च में किताबों और प्राचीन शास्त्रों का संग्रह है। जो यहां आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है।

यह भी पढ़े – कांगड़ा किले का इतिहास – Kangra Fort History In Hindi

Kanpur Memorial Church – कानपुर मेमोरियल चर्च, कानपुर

इस चर्च को साल 1875 में ब्रिटिश सैनिकों के सम्मान में बनाया गया था। जिन्होनें साल 1857 में हुए स्वतंत्रता संग्राम में अपनी जान गंवाई थी। इस चर्च का डिजाइन वास्तुकार वाल्टर ग्रैनविले ने तैयार किया था। जो पूर्वी बंगाल रेलवे की वास्तुकला के लिए जाने जाते है।

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *