Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
jiohind.com

भारतीय मरुस्थल के बारे में जानकारी – List Of Famous Deserts In India 

desert-in-india

भारतीय मरुस्थल के बारे में जानकारी – Famous Deserts In India

अगर आप घूमने का प्लान कर रहे हैं, लेकिन आप सोच रहे हैं कि कहां जाएं और वहां जाकर क्या करेंगे. इसका समाधान हम आपके लिए लाए हैं. आज हम आपको कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताएंगे जहां आप घूमने के साथ-साथ एडवेंचर भी कर सकते हैं.

ये हैं भारत के 12 ख़ूबसूरत रेगिस्तान, जहां आप घूमने के साथ-साथ एडवेंचर भी कर सकते हैं – Top 12 Indian Desert

1. कच्छ, गुजरात

45652 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफ़ल में फैले गुजरात के इस सबसे बड़े ज़िले का अधिकांश हिस्सा रेतीला और दलदला है. कच्छ में देखने लायक कई जगहें हैं जिसमें कच्छ का सफ़ेद रण आजकल पर्यटकों को लुभा रहा है. इसके अलावा मांडवी समुद्रतट भी देखने लायक है. यहां जाने का सही समय जुलाई से मार्च का है.

2. बीकानेर, राजस्थान

राजस्थानी शहर बीकानेर सुनहरी रेत के टीलों, ऊंटों और वीर राजपूत राजाओं के साहस और प्यार की मिसाल है. ये राजस्थान के उत्तर पश्चिमी भाग में थार रेगिस्तान के बीच में स्थित है. ये शहर राठौर राजकुमार और राव बीकाजी द्वारा वर्ष 1488 में स्थापित किया गया था. ये शहर भुजिया के अलावा अपने विश्व प्रसिद्ध ‘बीकानेर महोत्सव’ के लिए भी जाना जाता है. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

3. जैसलमेर, राजस्थान

जैसलमेर को गोल्डन सिटी भी कहा जाता है. ये दिल्ली से करीब 480 किमी दूर है. थार रेगिस्तान के बीचो-बीच स्थित जैसलमेर में आप रेत में ट्रैक्टर बाइक की सवारी भी कर सकते हैं. यह एक अलग तरह का अनुभव होगा. अगर आप स्पोर्ट्स के शौकीन हैं तो यह जगह आपके लिए बेहद खास है. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

4. लेह-लद्दाख, जम्मू और कश्मीर

एडवेंचर ट्रैवेलिंग और बाइक राइडिंग के शौकीन लोगों के लिए लेह और लद्दाख के रास्तों पर मोटर साइकिल की लंबी राइड लेना किसी सपने से कम नहीं है. श्रीनगर से लेह जाने के लिए यात्रियों को जोजिला पास होकर जाना पड़ता है. जोजिला पास 11500 फ़ीट की ख़तरनाक ऊंचाई के अपने घुमावदार रास्तों और गहरी खाइयों के लिए मशहूर है. जोजिला पास को दुनिया के सबसे ख़तरनाक रास्तों में से एक माना जाता है. जोजिला पास की सड़कें ठंड के मौसम में भारी बर्फ़बारी के कारण बंद कर दी जाती है. यहां जाने का सही समय जून से सिंतबर का है.

5. बाड़मेर, जैसलमेर

रंग और विरासत से भरा बाड़मेर राजस्थान की सांस्कृतिक सुंदरता का प्रतीक है. ये पश्चिम में पाकिस्तान और उत्तर और दक्षिण में जैसलमेर और जालौर की सीमा पर स्थित है. यहां पर राजसी बाड़मेर क़िले और बहुत सारे प्राचीन मंदिर भी हैं. राजस्थान में तीसरा सबसे बड़ा ज़िला बाड़मेर हाल ही में खोजे गए तेल का भी उत्पादन करता है. हालांकि, इसकी सांस्कृतिक सुंदरता और कारीगरी अपने समृद्ध शिल्प जैसे मिट्टी के बर्तन, बुनाई, लकड़ी की नक्काशी, नृत्य और संगीत कमाल की है.

6. जोधपुर, राजस्थान

जोधपुर को ‘गेटवे टू थार’ के रूप में जाना जाता है. ये अपने मेहरानगढ़ क़िले, नीले घरों, मंदिरों, मिठाइयों और स्नैक्स के लिए प्रसिद्ध है. यहां पर आप पहाड़ों पर सुकून के पल बिताने के साथ-साथ एडवेंचर का भी आनंद ले सकते हैं. यहां जाने का सही समय नवम्बर से फरवरी है.

7. कुंभलगढ़, राजस्थान

अपने विशालकाय सांपों के क़िले के लिए प्रसिद्ध, कुंभलगढ़ शहर राजस्थान की एक और प्रसिद्ध जगहों में से एक है. ये शहर अपने राजसी स्मारकों, असाधारण महलों और मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है. कुम्भलगढ़ क़िला राजस्थान का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण क़िला है. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

8. चित्तौड़गढ़, राजस्थान

मेवाड़ के तत्कालीन राज्य की राजधानी, चित्तौड़गढ़ क़िलों, गढ़ों, खंडहरों और सदाबहार कहानियों की भूमि है. राजस्थान के दक्षिण पूर्वी कोने में स्थित चित्तौड़गढ़ अपने साहसी इतिहास के लिएजाना जाता है. इसमें ख़ासकर अलाउद्दीन खिलजी की घेराबंदी की दास्तां आज भी लोगों को याद है. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

9. पुष्कर, राजस्थान

पुष्कर शहर को अकसर राजस्थान के ‘Rose Garden’ के रूप में जाना जाता है. इस शहर की ख़ास बात यहां की संस्कृति, गुलाबों की ख़ुशबू और भगवान ब्रह्मा को समर्पित एकमात्र मंदिर है. यहां पर आप रात में या सूर्यास्त के बाद ऊंट की सवारी का आनंद ले सकते हैं. इसके अलावा रॉक क्लाइम्बिंग, रैपेलिंग और ज़िप लाइनिंग कर सकते हैं. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

10. नुब्रा वैली, जम्मू और कश्मीर

लेह से 130 किमी की दूरी पर स्थित लद्दाख रीजन की नूब्रा वैली में कुछ ख़ास तरह के ऊंट पाए जाते हैं, जो आम ऊंटों की तुलना में छोटे होते हैं. दुनिया का सबसे ऊंचा मोटर चलित रोड खर्डोंगला दर्रा नूब्रा वैली का प्रवेश द्वार है. यहां आने वाले पर्यटकों को रेत की पहाड़ी पर ऊंट की सवारी करना बेहद पसंद आता है. यहां जाने का सही समय जून से सिंतबर का है.

11. अजमेर, राजस्थान

अरावली पर्वतमाला से घिरा अजमेर शहर संत मुइन-उद-दीन चिश्ती की दरगाह शरीफ़ के लिए सबसे प्रसिद्ध है. अपनी परंपराओं और संस्कृति से बंधा अजमेर लोकाचार और शिल्प कौशल में भी पारंगत है. यहां जाने का सही समय अक्टूबर से मार्च का है.

12. खिमसर, राजस्थान

नागौर महोत्सव के लिए प्रसिद्ध, खिमसर राजस्थान राज्य का एक छोटा सा गांव है. यहां जाने का असली मज़ा सर्दियों में आता है. भारत में थार रेगिस्तान के किनारे पर स्थित, खिमसर अपने सुनहरे रेत के टीलों और अपने शानदार क़िले खिमसर क़िले के लिए प्रसिद्ध है. रेत के टीलों पर ऊंट की सवारी, कैम्पफ़ायर, लोक नृत्य और गाने जैसी एक्टिविटी का आनंद ले सकते हैं. यहां जाने का सही समय नवंबर से फरवरी का है.

Add comment

Must Get It ..