Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
jiohind.com

मलेशिया के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी – Malaysia Tourist Places In Hindi

malaysia

Malaysia मलेशिया दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित एक उष्णकटिबंधीय देश है। यहाँ की राजभाषा ‘मलय’ तथा राजधानी ‘क्वालालंपुर’ है, लेकिन हाल ही में संघीय राजधानी को खासतौर से प्रशासन के लिए बनाए गए नए शहर पुत्रजया में स्थानांतरित कर दिया गया है। यह 13 राज्यों से बनाया गया एक एक संघीय राज्य है। यह दक्षिण चीन सागर से दो भागों में विभाजित है। मलय प्रायद्वीप पर स्थित मुख्य भूमि के पश्चिम तट पर मलक्का जलडमरू और इसके पूर्व तट पर दक्षिण चीन सागर है। देश का दूसरा हिस्सा, जिसे कभी-कभी पूर्व मलेशिया के नाम से भी जाना जाता है, दक्षिण चीन सागर में बोर्नियो द्वीप के उत्तरी भाग पर स्थित है। यह एक ऐसा देश है, जहाँ बहुत सारे उत्सव वर्ष के बारह महीने चलते रहते हैं।

मलेशिया  – Malaysia

मलेशिया ऐसा देश है, जो पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचने की पूरा क्षमता रखता है। यह एक ऐसा देश है, जहाँ बहुत सारे उत्सव वर्ष के बारह महीने चलते रहते हैं। मलेशिया के लोगों की ऊर्जा और उत्साह ही वहाँ होने वाले उत्सवों की जान है, जो पर्यटकों को अपने देश बुलाती है।

16 सितम्बर, 1963 ई. को मलाया प्रायद्वीप, सिंगापुर, साबाह एवं सारावाक नामक ब्रिटिश उपनिवेशों के विलयन के फलस्वरूप मलेशिया गणतंत्र की स्थापना हुई थी। 9 अगस्त, 1965 ई. को आपसी समझौते द्वारा सिंगापुर मलेशिया से अलग हो गया एवं एक स्वतंत्र राष्ट्र बन गया। इस देश का संविधान भूतपूर्व मलयम संघ के संविधान पर ही आधारित है। फिर भी साबाह और सारावाक की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है।

मलेशिया का क्षेत्रफल लगभग 1,30,224 वर्ग मील है। देश की सुरक्षा के लिये सुव्यवस्थित स्थल, वायु एवं जल सेनाएँ हैं। क्वालालंपुर के निकट सुंगेई बेसी नामक स्थान पर संघीय सैनिक महाविद्यालय है, जहाँ सशस्त्र सेनाओं के अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

मलेशिया में चीनी, मलय और भारतीय जैसे विभिन्न जातीय समूह निवास करते हैं। यहां का आधिकारिक भाषा मलय है, लेकिन शिक्षा और आर्थिक क्षेत्र में ज्यादातर अंग्रेजी का इस्तेमाल होता है। मलेशिया में 130 से अधिक बोलियां बोली जाती हैं, इनमें से 94 मलेशियाई बर्नियओ में और 40 प्रायद्वीप में बोली जाती है। यद्यपि देश सरकार धर्म इस्लाम है, लेकिन नागरिकों को अन्य धर्मों का मानना ​​स्वतंत्रता है।

मलेशिया में घूमने की जगह – Places to visit in Malaysia

मलेशिया में घूमने की जगह कुआलालंपुर  – Kuala Lumpur Worth Seeing Place In Malaysia 

मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में देखने लायक कई चीजें हैं। भले ही, यह शहर आधुनिकता से जुड़ा हुआ है, लेकिन यहां आपको देहाती आकर्षण भी देखने को मिलेगा। कुआलालंपुर में आप शानदार भोजन, गगनचुंबी इमारतों (Skyscrapers), शॉपिंग मॉल और बाजारों एवं जीवंत नाइटलाइफ का लुत्फ उठाने के साथ ही आप निश्चित रूप से पेट्रोनास ट्विन टावर्स (Petronas Twin Towers) को भी देख सकते हैं। कुआलालंपुर में प्रसिद्ध पेट्रोनास ट्विन टॉवर से दातारन मर्डेका (Dataran Merdeka) में स्थित ऐतिहासिक सुल्तान अब्दुल समद बिल्डिंग का नजारा देख सकते हैं। मलेशिया में सबसे बड़े हिंदू मंदिर बाटू गुफाओं (Batu Caves) की यात्रा करना और बाटिक प्रिंटिंग (Batik Printing) देखना भी काफी रोमांचकारी होता है।

मलेशिया का मुख्य टूरिस्ट स्थल पेनांग हिल  –  Penang Hill Tourist Place Of Malaysia 

पेनांग हिल, प्रायद्वीपीय मलेशिया (Peninsular Malaysia) में विकसित पहला औपनिवेशिक हिल स्टेशन था। वेस्टर्न हिल, बुकिट लक्ष्मण, टाइगर हिल, फ्लैगस्टाफ हिल (Flagstaff Hill) और सरकारी हिल की तुलना में, यह जॉर्ज टाउन से छह किमी दूर स्थित है। यहां के लोग इसे बुकिट बेंडेरा (Bukit Bendera) कहते हैं और यह आमतौर पर जॉर्जटाउन की तुलना में लगभग पांच डिग्री अधिक ठंडा है। पेनांग मलेशिया के सबसे प्रमुख पर्यटक आकर्षण में से एक है। यहां के गांव कम्पुंग पुलाऊ बेटोंग (Kampung Pulau Betong)और पुलाऊ अमान (Pulau Aman) में आप मछली पकड़ने का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा पेनांग स्नेक टेम्पल, केक लोक सी मंदिर(Kek Lok Si Temple), धम्मिकर्मा बर्मीज मंदिर, वार चयानाबगालाराम(War Chaiyanabgalaram), बाटू फेरंगी (Batu Feringgi ) भी देखने लायक जगह है। पेनांग को खाद्य पदार्थों के स्वर्ग कहा जाता है।

माउंट किनाबालू मलेशिया में घूमने की जगह  –  Mount Kinabalu Malaysia Mein Ghumne Ki Jagah 

माउंट किनाबालु 4,095 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जो दक्षिण पूर्व एशिया की सबसे ऊंची चोटी है और एशिया में लोकप्रिय चढ़ाई स्थलों (Climbing Destinations) में से एक है। यह कोटा किनाबालु के 85 किमी उत्तर-पूर्व में स्थित है और इसे पश्चिमी तट से बहुत दूर तक देखा जा सकता है। यह जैव विविधता के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। यहां फर्न की 600 से अधिक प्रजातियां, 326 पक्षियों की प्रजातियां, और स्तनधारियों की 100 प्रजातियां पायी जाती हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं तभी आप किनाबालु की पहाड़ियां चढ़ पाएंगे क्योंकि यहां कोई पर्वतारोहण उपकरण (Mountaineering Equipment) नहीं दिया जाता है लेकिन साथ में एक गाइड जरुर रहेगा

मलक्का मलेशिया का मुख्य पर्यटन स्थल –  Malacca Malaysia Ka Main Paryatan Sthal 

यह मलेशिया के सबसे बड़े पर्यटक स्थलों में से एक है। मलक्का 15 वीं शताब्दी के आसपास का बंदरगाह है जो एशिया के सबसे बड़े व्यापारिक बंदरगाहों (Trading Ports) में से एक है। यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल के रूप में पहचाने जाने वाले मलक्का में प्राचीन इमारतों को आप देख सकते हैं। मलक्का में कुछ प्राचीन समुद्र तट, हरे-भरे जंगल भी हैं। इसके अलावा अलोर गजाह (Alor Gajah) और अयेर केरोह (Ayer Keroh) परिवार के साथ छुट्टियां बिताने के लिए बढ़िया जगह है। यहां आप क्राइस्ट चर्च, स्टैडथ्यूज, सेंट पॉल हिल, डच फोर्ट, पुर्तगाली उपनिवेश(Portuguese Settlement) सहित कई अन्य प्राचीन स्थलों को देख सकते हैं।

कैमरुन हाइलैंड मलेशिया में घूमने लायक जगह  –  Cameroon Highlands Worth Seeing Place Of Malaysia

कैमेरुन हाइलैंड्स एक ऊंचा इलाका है जो कि इपोह से लगभग 20 किमी पूर्व में, समुद्र तल से 5,000 किमी की ऊंचाई पर स्थित है। कैमरून हाइलैंड्स कई चाय बागानों का घर है, और सबसे बड़े चाय उत्पादक क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा आप यहां पहाड़ी बकरियां देख सकते हैं। कैमरून हाइलैंड्स में मुख्य रूप से ट्रिंगकैप (Tringkap), ब्रिंचांग (Brinchang), तानाह राटा (Tanah Rat) और रिंगलेट क्षेत्र आकर्षण का केंद्र हैं। इन्हें आप पैदल घूमकर देख सकते हैं। इसके अलावा जगह जगह बैठकर चाय पीते हुए पूरी तरह से आराम कर सकते हैं।

तमन नेगारा मलेशिया में देखने की जगह  – Taman Negara Malaysia Mein Dekhne Ki Jagah

यदि आप उष्णकटिबंधीय वर्षावन को देखना चाहते हैं तो मलेशिया का तमन नेगारा आपके लिए बेहद खास पर्यटन स्थल हो सकता है। यह एक राष्ट्रीय उद्यान है जो 130 मिलियन वर्ष पुराना है। तमन नेगारा पार्क में 100 किलोमीटर लंबा है और इसमें रस्सी के बने पुलों (Rope Walkway) या बोर्डवॉक सर्किट से होकर जाना पड़ता है। यहां आप स्वदेशी जनजातियों के जीवन और जंगली वन्यजीवों को देख सकते हैं। तमन नेगारा मलय बाघ (Malayan Tiger), केकड़ा खाने वाले लंगूर (Crab Eating Macaque), मलय गौड़ (सेलाडंग) और भारतीय हाथी सहित कई महान आर्गस (Great Argus) और दुर्लभ मलय मोर, तीतर (Pheasant) जैसे पक्षियों का घर है।

मलेशिया कैसे पहुंचें  – How To Reach Malaysia 

कुआलालंपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा मलेशिया का मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है और दक्षिण पूर्व एशिया में प्रमुख हवाई अड्डों में से एक है। भारत से मलेशिया के बीच की दूरी लगभग 3000 किलोमीटर है। कुआलालंपुर हवाई मार्ग द्वारा दुनिया के बाकी हिस्सों से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। भारत से कुआलालंपुर के लिए लगातार उड़ानें हैं। आप भारत के चार प्रमुख अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बंगलौर से उड़ान भर सकते हैं। एयर एशिया, जेट एयरवेज, एयर इंडिया, थाई एयरवेज, कतर एयरवेज, मलेशियाई एयरलाइन, सिंगापुर एयरलाइन भारत से कुआलालंपुर के लिए उड़ान भरती हैं।

मलेशिया के बारे में रोचक तथ्य  –  Interesting Facts About Malaysia

  1. मलेशिया के गुनुंग मुलु राष्ट्रीय उद्यान (Gunung Mulu National Park) में स्थित सारावाक गुफा (Sarawak Cave) दुनिया की सबसे बड़ी गुफा कक्ष है। ऐसा कहा जाता है कि यह बोइंग 747 को आसानी से समायोजित कर सकता है।
  2. कुआला कांगसर के जिला कार्यालय में 1877 में लगाए गए नौ पेड़ों में रबर का पेड़ (Rubber Tree) सबसे पुराना है। एक अंग्रेज एच एन रिडले ने इसे लंदन के केव गार्डन (Kew Gardens) से लाकर लगाया था।
  3. कुआलालंपुर में स्थित पेट्रोनास टावर्स (Petronas Towers) दुनिया की सबसे ऊंची इमारत है। ये जुड़वां इमारतें हैं 41 वें और 42 वें तल पर एक आकाश पुल (Sky Bridge) से जुड़ी हैं।
  4. मलेशिया में सबसे अधिक जहरीले किंग कोबरा पाये जाते हैं। ये दुनिया के सबसे लंबे विषैले सांप हैं जिनकी लंबाई 5.7 मीटर तक है।
  5. विश्व प्रसिद्ध जूता डिजाइनर जिमी चू (Jimmy Choo) का जन्म मलेशिया के पेनांग में हुआ था।
  6. किनाबालु नेशनल पार्क में, आपको एक बहुत बुरा महकदार ( Bad Smelling Flower) फूल मिलेगा जिसे रफलेसिया अर्नोल्डी (Rafflesia Arnoldii) कहा जाता है।  यह दुर्गंधयुक्त फूल 3 फीट तक खिल सकता है और इसका वजन 11 किलोग्राम होता है।

Add comment

Must Get It ..