जीवन चिठ्ठा

महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी – Mahendra Singh Dhoni Biography

0
M-S-Dhoni

महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी – M S Dhoni Biography

Mahendra Singh Dhoni Biography In Hindi – महेंद्र सिंह धोनी की जीवनी (About MS Dhoni in Hindi) में उनके परिवार (About M S Dhoni Family) करियर (M S Dhoni Career) और अवार्ड (M S Dhoni Awards) से जुडी सभी जानकारी (M S Dhoni Information In Hindi) हिंदी में मिलेगी.

महेंद्र सिंह धोनी, जिन्हें आमतौर पर एमएस धोनी के रूप में जाना जाता है, एक भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने 2007 से 2016 तक और 2008 से 2014 तक टेस्ट क्रिकेट में सीमित ओवरों के प्रारूप में भारतीय राष्ट्रीय टीम की कप्तानी की।

महेंद्र सिंह धोनी का परिवार – About M S Dhoni Family

महेंद्र सिंह धोनी के पिता का नाम पान सिंह धोनी एवं इनकी माता का नाम देवकी धोनी है. एम.एस. धोनी का एक बड़ा भाई और एक बहन भी है. धोनी के भाई का नाम नरेन्द्र सिंह धोनी तथा बहन का नाम जयंती. धोनी एक मध्यमवर्गी परिवार से थे. उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा रांची के जवाहर विद्या मंदिर स्कूल से पूर्ण की. धोनी के पिता एक स्टील बनाने वाली कंपनी में काम करते थे.

महेंद्र सिंह धोनी की  लाइफ – About M S Dhoni in Hindi

धोनी के पर्सनल लाइफ में कई दोस्त है जो कि उनके बचपन के दोस्त है. उनके एक दोस्त ने ही उन्हें हेलीकाप्टर शॉट खेलना सिखाया. धोनी को अंतरराष्ट्रीय पदार्पण के बाद एक प्रियंका नाम लड़की से प्यार हुआ था कुछ समय की रिलेशनशिप के बाद प्रियंका की एक कार एक्सीडेंट में मौत हो गयी थी.

फिल्म एम.एस.धोनी में बताया गया है कि धोनी और साक्षी एक होटल में मिले थे. असल में यह सच नहीं है. सच यह है की धोनी के पापा और साक्षी के पापा दोनों ही एक ही कंपनी में काम करते थे. हैरानी की बात तो ये है की साक्षी और धोनी एक ही स्कूल में भी पढ़े हुए है पर जिस समय धोनी स्कूल छोड़ चुके थे उस समय साक्षी ने स्कूल में दाखिला लिया था. जिससे धोनी स्कूल में साक्षी को मिल नहीं पाए. कुछ समय बाद साक्षी का परिवार रांची छोड़कर देहरादून चले गए थे. देहरादून में साक्षी के दादा दादी पहले से ही रहते थे.

जब धोनी का सिलेक्शन टीम इंडिया में हुआ था. उस समय नवम्बर-दिसंबर 2007 में टीम कोलकाता में पकिस्तान के खिलाफ खेल रही थी. धोनी की मुलाक़ात कोलकाता में ही हुई थी. उस समय भारतीय टीम एक होटल में ठहरी थी जहां पर साक्षी की मुलाक़ात धोनी से हुई. साक्षी को धोनी के सामने परिचित करने वाली युद्ध जीत दत्ता होटल की मेनेजर थी. जिस दिन धोनी और साक्षी मिले वो दिन साक्षी का होटल इंटर्नशिप का आखिरी दिन था

जब साक्षी होटल छोड़ कर चली गयी तब धोनी ने मेनेजर से साक्षी का नम्बर ले कर उन्हें मेसेज किये. साक्षी को लगा की कोई उनसे मज़ाक कर रहा है. उन्हें जब पता चला की ये असल में धोनी ही है और भारतीय टीम के कप्तान बन चुके है तो वे अपने आप पर भरोसा नहीं कर पाई की धोनी ने उन्हें मेसेज किये.

साक्षी को 2-3 महीने तक मनाने के बाद धोनी और साक्षी दोनों एक दुसरे को डेट करने लग गए साल 2010 में दोनों ने शादी कर ली. धोनी की एक बेटी है ज़ीवा जो की अभी 4 साल की है.

महेंद्र सिंह धोनी का करियर – M S Dhoni Career

धोनी को बचपन से ही क्रिकेट के बजाये फुटबॉल पसंद था, पर इनके कोच ठाकुर दिग्विजय सिंह ने इन्हें क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया. धोनी को फुटबॉल टीम में एक गोलकीपर के तौर पर खेलते थे. यही देखकर कोच ने उन्हें क्रिकेट में एक विकेट कीपर के तौर पर खेलने को कहा. धोनी ने अपने माता पिता की सहमती लेकर क्रिकेट खेलना शुरू किया. 2001-2003 में धोनी पहली बार कमांडो क्रिकेट क्लब की ओर से खेले वहां पर उनकी विकेट कीपिंग को देखकर सभी ने उनकी सराहना की. 2003 में धोनी ने खड़कपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन टिकट चेकर के तौर पर भी काम किया.

धोनी ने अपने प्रोफेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत सन 1998 में बिहार अंडर-19 टीम से की. 1999-2000 में धोनी ने बिहार रणजी टीम में खेलकर अपना पदार्पण किया. देवधर ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी और इंडिया “ए” में केन्या टूर में किये गए प्रदर्शन की बदौलत उन पर राष्ट्रीय टीम चयन समीति ने ध्यान दिया.

सन 2004 में एक टीम चयन समीति के बैठक में सौरव गांगुली से पुछा गया था की टीम में विकेट कीपर किसे बनायेंगे, तब सौरव गांगुली ने कहा था कि “मैं एम.एस.धोनी को विकेट कीपर बनाना चहुँगा”. 2004 में धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ चिट्टगाँव में अंतर्राष्ट्रीय पदार्पण किया तब से लेकर अब तक महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट में एक बहुत लम्बा सफ़र तय कर चुके है.

अपने करीयर में धोनी 90 टेस्ट में 4876 रन बनाये. टेस्ट में उनकी सबसे बड़ी पारी चेन्नई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आई. इस पारी में धोनी ने 224 रन बनाये. टेस्ट में धोनी ने स्टंप के पीछे 256 कैच और 35 स्टम्पिंग की है.

वन-डे इंटरनेशनल में धोनी ने 265 मैचों में 8620 रन बनाये. धोनी ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ वन-डे पारी श्रीलंका के खिलाफ 2005 में जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेली, इस पारी में धोनी ने 183 रन की पारी खेली. वन डे में धोनी ने विकेट कीपिंग करते हुए 246 कैच पकड़े और 85 स्टम्पिंग की.

धोनी के नाम पर इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे तेज़ स्टम्पिंग का रिकॉर्ड भी है उन्होंने मिशेल मार्श की 0.76 सेकंड में स्टंपिंग की थी. अपनी बैटिंग, कीपिंग और फिनिशिंग के लिए धोनी विश्व जगत में मशहूर है. उन्होंने भारत के लिए हर आई.सी.सी. ट्रॉफी जीती, 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 का वन-डे वर्ल्ड कप, 2013 की चैंपियंस ट्राफी हासिल की|

धोनी ने एक वन डे पारी में 10 छक्के मारे है, उनकी यह पारी सबसे ज्यादा छक्को के मामले में छठे स्थान पर आती है| भारतीय विकेट कीपर के द्वारा विकेट के पीछे सबसे ज्यादा शिकार करने का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम ही है| धोनी की कप्तानी में भारत अपने सर्वोच्च स्कोर 726 तक पंहुची थी. धोनी एकमात्र कप्तान है जिन्होंने वन-डे में सातवें स्थान पर बैटिंग करते हुए शतक मारा था.

धोनी भारत के पहले विकेट कीपर है जिन्होंने टेस्ट में 4000 रन का आंकड़ा पार करा था. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों को मिलाकर धोनी ने सर्वाधिक मैचों की कप्तानी की है.

धोनी की कप्तानी में भारत ने 199 वन-डे मैंचो में से 110 में जीत हासिल की है, टी-20 में 72 में से 41 में और टेस्ट में 60 में से 27 में भारतीय टीम ने जीत हासिल की है.

धोनी ने कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा टूर्नामेंट के फाइनल में जीत हासिल की है. धोनी की फ़िलहाल में टी-20 में 43 रैंकिंग है और वन-डे में 14 रैंकिंग है.

महेंद्र सिंह धोनी को मिले अवार्ड्स – M S Dhoni Awards

  • महेंद्र सिंह धोनी – MS Dhoni को वन डे मैच में अपने शानदार प्रदर्शन के लिए 6 मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार और 20 मैन ऑफ द मैच पुरस्कार मिले हैं।
  • उन्हें अपने पूरे करियर में टेस्ट में 2 मैन ऑफ द मैच पुरस्कार भी मिले हैं।
  • साल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी को भारत सरकार ने राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड से भी सम्मानित किया। ये पुरस्कार खेल की दुनिया में दिया जाने वाले सर्वश्रेष्ठ सम्मान है।
  • साल 2008 और 2009 में महेंद्र सिंह धोनी – MS Dhoni को ICC, ODI आईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ द ईयर का नाम दिया गया है।
  • उन्होंने इसे 2008 से 2014 तक लगातार 7 सालों तक आईसीसी विश्व ओडीआई इलेवन टीम भी बनाया। आपको बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी को साल 2009, 2010 और 2013 में में आईसीसी विश्व टेस्ट इलेवन टीम में भी शामिल किया गया था।
  • साल 2011 में महेंद्र सिंह धोनी – MS Dhoni को डी मोंटफोर्ट यूनिवर्सिटी की तरफ से मानद डॉक्टरेट की डिग्री भी दी गई थी।
  • धोनी को साल 2009 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से भी नवाजा गया था।
  • इसके साथ ही धोनी को 2 अप्रैल, 2018 को देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था।
  • महेंद्र सिंह धोनी – Mahendra Singh Dhoni महान क्रिकेटर कपिल देव के बाद दूसरे खिलाड़ी हैं जिन्होनें इंडियन आर्मी का भी सम्मान पद मिला है।
  • साल 2011 में दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट में धोनी का नाम लिखा गया था।
  • महेन्द्र सिंह धोनी साल 2012 में दुनिया के सबसे कीमती खिलाड़ियों में 16वें नंबर पर हैं।
  • जून, 2015 में फोर्ब्स ने धोनी को सबसे ज्यादा महंगे खिलाड़ियों की लिस्ट में 23 वें नंबर पर रखा और इस लिस्ट के अनुसार उनकी कमाई 31 मिलियन अमेरिकी डॉलर रही।

महेंद्र सिंह धोनी का क्रिकेट से सन्यास  – M S Dhoni Retirement

आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 खत्म होने के बाद भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के संन्यास की खबरें दोबारा पैर जमाने लगी हैं. उनके दोस्त और मैनेजर अरुण पांडे ने शुक्रवार को बताया कि माही का अभी संन्यास लेने का कोई इरादा नहीं है.

 

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *