घुम्मक्कड़

उदयपुर के दर्शनीय स्थल – Udaipur Places To Visit

0
udaipur

उदयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल –  Tourist Places Of Udaipur

Udaipur Rajasthan – आज हम आपके साथ राजस्थान के उदयपुर (Udaipur City of Lakes) के प्रमुख पर्यटन स्थल (Udaipur Places To Vist) में उदयपुर का पैलेस (Udaipur Palace) उसका इतिहास (History of Udaipur) की जानकारी साझा करेंगे.

झीलों का शहर उदयपुर – Udaipur City of Lakes

उदयपुर यानि झीलों का (Udaipur City of Lakes) शहर। राजस्थान के इस शहर (Udaipur Rajasthan) को “पूर्व का वेनिस” भी कहा जाता है। यह चारों ओर से सुंदर अरावली पहाड़ियों से घिरा हुआ है, जो इसे एक खूबसूरत और मनमोहक पर्यटन स्थल (Udaipur Places To Vist) बनाता है। दिल में रोमांस भरे लोगों के लिए उदयपुर एक रमणीय स्थान और राजस्थान में छुट्टी मनाने के लिए सबसे अच्छी जगह है।

उदयपुर का इतिहास – Udaipur History

उदयपुर का इतिहास (History of Udaipur) 15वीं शताब्दी का है। उदयपुर की खोज 1553 में मेवाड़ वंश के महाराणा उदय सिंह ने की थी। इसका नाम राजा के नाम पर ‘उदयपुर’ (Udaipur City of Lakes) रखा गया। जब उदयपुर मेवाड़ राजवंश द्वारा पाया गया था, यह एक उपजाऊ भूमि थी इसलिए इसे राजा द्वारा नई राजधानी घोषित किया गया था। उदयपुर से पहले, चित्तौड़गढ़ मेवाड़ साम्राज्य की राजधानी था।

महाराणा उदय सिंह द्वितीय ने युद्ध के कारण राजधानी को चित्तौड़गढ़ से उदयपुर स्थानांतरित करने का निर्णय लिया, क्योंकि वह अपनी राजधानी को अधिक सुरक्षित स्थान पर ले जाना चाहता था।

महाराणा उदय सिंह द्वितीय ने नई-राजधानी शहर के मुख्य महल के निर्माण के लिए आयड़ क्षेत्र का चयन नहीं किया था क्योंकि उस समय आयद बाढ़-ग्रस्त क्षेत्र था। इसलिए पिछोला झील के पूर्वी क्षेत्र को मुख्य महल बनाने के लिए चुना गया था जिसे अब सिटी पैलेस (Udaipur Palace) के रूप में जाना जाता है।

यह भी पढ़े – 

उदयपुर पैलेस – Udaipur Fort

लगभग 244 मीटर और 30.4 मीटर की चौड़ाई के साथ सिटी पैलेस (Udaipur Palace) का मुख्य मुखौटा काफी आकर्षक है। सिटी पैलेस उदयपुर शहर में पिछोला लेक के किनारे स्थित एक शाही संरचना है जो उदयपुर शहर के (Udaipur Places To Vist) प्रसिद्ध पर्यटन शहरों में से एक है।

सिटी पैलेस (History of Udaipur) का निर्माण 1559 में महाराणा उदय सिंह ने करवाया था। समय के साथ इसमें कई बदलाव किए गए थे। ग्रेनाइट और संगमरमर से निर्मित, महल के अंदरूनी हिस्से को जटिल दर्पण ,संगमरमर के काम, भित्ति चित्रों, दीवार के चित्रों, चांदी के काम और रंगीन कांच से सजाया गया है।

सुरुचिपूर्ण बालकनी, लंबा टॉवर और कपोल परिसर की संरचना भी सिटी पैलेस महल (Udaipur Palace) की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं। महल की छत से शहर का एक आकर्षक दृश्य देखा जा सकता है। अंदर से सिटी पैलेस (Udaipur Palace) लंबे गलियारों का एक भूलभुलैया है जिसे दुश्मनों द्वारा किए गए आश्चर्यजनक हमलों से बचने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

उदयपुर में घूमने के लिए पर्यटन स्थल – Udaipur Best Places To Visit

सुंदर महलों और शानदार झीलों से सुसज्जित, इस लोकप्रिय पर्यटन स्थल (Udaipur Places To Vist) में हनीमून जोड़े और इतिहास (History of Udaipur) प्रेमियों के लिए बहुत कुछ है। यह शहर दूसरी सबसे बड़ी मानव निर्मित मीठे पानी की झील है और भारत में सबसे अधिक विदेशी बुटीक होटलों में से एक है।

बागोर की हवेली –  Udaipur Bagore Ki Haveli 

बागोर की हवेली पिछोला झील के पास स्थित उदयपुर में देखने लायक जगह में से एक है। इस हवेली का निर्माण 18 वीं शताब्दी में मेवाड़ के शाही दरबार में मुख्यमंत्री अमीर चंद बड़वा द्वारा किया गया था। इसके बाद यह हवेली वर्ष 1878 में बागोर के महाराणा शक्ति सिंह का निवास स्थान बन गई जिसकी वजह से इसका नाम बागोर की हवेली पड़ा। इस हवेली को संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया है जो मेवाड़ की संस्कृति को प्रस्तुत करता है|

यहां के एंटीक संग्रह में राजपूतों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले कई सामान जैसे कि आभूषण बक्से, हाथ के पंखे, तांबे के बर्तन शामिल हैं। इस विशाल संरचना में 100 से अधिक कमरे हैं और यह अपनी वास्तुकला की अनूठी शैली के साथ शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है। अगर आप उदयपुर की यात्रा करने जा रहे हैं तो इस पर्यटन स्थल (Udaipur Places To Vist) को देखने के लिए जरुर जाएँ।

हल्दीघाटी –  Udaipur Haldighati

यह एक ऐतिहासिक (History of Udaipur) स्थल है जो उदयपुर शहर से 40 किमी दूर स्थित है और महाराणा प्रताप के नेतृत्व में मुगलों और राजपूतों के बीच लड़ाई के लिए प्रसिद्ध है। राणा प्रताप के घोड़े को समर्पित पतले, नाजुक संगमरमर के स्तंभों के साथ एक शिलालेख है। इसके अलावा, यह स्थान मिट्टी से बने मुलेला कला की दीवार के लिए बहुत प्रसिद्ध है और स्थानीय कुटीर उद्योग खरीदारी के लिए भी बहुत अच्छा है।

सहेलियों की बारी –  Udaipur Saheliyon Ki Bari 

सहेलियों की बारी का निर्माण संग्राम सिंह II द्वारा रानी और उनकी सहेलियों को उपहार के रूप में करवाया गया था। राजा ने स्वयं इस बगीचे को डिजाइन किया और इसे एक आरामदायक जगह बनाने का प्रयास किया, जहां रानी अपने 48 सहेलियों के साथ आराम कर सकती थी। यह गार्डन आज भी कई मायनों में अपने उद्देश्य को पूरा करता है और शहर की भीड़ भाड़ से बचने के लिए लोग इस स्थान पर आते हैं। यह उदयपुर में घूमने वाली (Udaipur Places To Vist) सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

मोती मगरी – Udaipur Moti Magri 

मोती मगरी फतेह सागर झील की अनदेखी एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है जिसका निर्माण महाराणा प्रताप (History of Udaipur) और उनके प्रिय घोड़े चेतक की स्मृति में एक श्रद्धांजलि करवाया गया है। यहां जगह आपको कई आकर्षक दृश्यों को देखने के लिए लुकआउट प्वाइंट प्रदान करता है।

अगर आप महाराणा प्रताप से जुड़ी घटनाओं की आश्चर्यजनक विरासत को जानना चाहते हैं तो मोती मगरी की यात्रा जरुर करें। मोती मगरी फतेह उदयपुर में देखने लायक जगह है जहां आपको एक बार जरुर जाना चाहिए।

एकलिंगजी मंदिर – Udaipur Eklingji Temple

 

ये मंदिर उदयपुर से करीब 20 कि.मी दूर कैलाशपुरी गांव में स्थित है। माना जाता है कि एकलिंगजी ही मेवाड़ के शासक हैं। राजा तो उनके प्रतिनिधि के रूप में यहां शासन कर्ता थे।

विंटेज कार संग्रहालयस – Udaipur Vintage Car Museum

विंटेज कार संग्रहालयस उदयपुर के खास दर्शनीय स्थलों (Udaipur Places To Vist) में से एक है, जो मोटर और कार में दिलचस्पी करने वाले लोगों के लिए स्वर्ग के सामान है। इस म्यूजियम का उद्घाटन फरवरी साल 2000 में किया गया था, जिसके बाद यह बहुत की लोकप्रिय पर्यटन स्थल बन गया।

इस म्यूजियम में कई पुरानी कारों जैसे 1934 के रोल्स-रॉयस फैंटम जो बॉन्ड फिल्म ऑक्टोपुसी में इस्तेमाल हुई थी और कई दुर्लभ रोल्स रॉयस मॉडल की कारों का घर है। यह स्थान आपको शहर की भीड़ से दूर लाकर एक शांतिपूर्ण वातावरण का एहसास करवाता है।

लेक पैलेस – Udaipur Lake Palace

लेक पैलेस उदयपुर (Udaipur Places To Vist) का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है और एक प्रसिद्ध विवाह स्थल भी है जो उदयपुर में वास्तुकला का एक चमत्कार है। लेक पैलेस लेक पिछोला झील के द्वीप पर स्थित है जिसका निर्माण महाराणा जगत सिंह द्वितीय द्वारा 1746 में करवाया गया था और 1960 के दशक में इसको एक लक्जरी होटल में बदल दिया गया। अब यह ताज लक्जरी रिसॉर्ट्स का एक हिस्सा है। इस शानदार होटल को कई हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों में भी दिखाया गया है।

फतेह सागर झील – Udaipur Fatah Sagar Lake

 

फतेह सागर झील उदयपुर शहर (Udaipur City of Lakes) के उत्तर-पश्चिम में स्थित एक बहुत ही आकर्षक झील है जो उदयपुर में सबसे ज्यादा घूमी जाने वाली जगहों में से एक है। यह झील उदयपुर की दूसरी सबसे बड़ी मानव निर्मित झील है, जो अपनी सुंदरता से पर्यटकों को मोहित करती है।

इस झील के पास का शांत वातावरण यात्रियों को एक अद्भुद शांति का एहसास करवाता है। फतेह सागर झील एक वर्ग किलोमीटर के में फैली हुई है जो तीन अलग अलग द्वीपों में विभाजित है, इसका सबसे बड़ा द्वीप नेहरु पार्क कहलाता है जिस पर एक रेस्तरां और बच्चों के लिए एक छोटा चिड़ियाघर भी बना हुआ है|

जो एक पिकनिक स्पॉट के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। इस झील के दूसरे द्वीप में एक सार्वजानिक पार्क है जिसमें वाटर-जेट फव्वारे लगे हुए हैं और तीसरे में उदयपुर सौर वेधशाला स्थित है। फतेह सागर झील शहर की खास झीलों में से एक होने की वजह से यहां पर्यटकों की काफी भीड़ रहती है। इस जगह पर लोग बोटिंग करना बेहद पसंद करते हैं। अगर आप उदयपुर की यात्रा करने जा रहे हैं तो इस फतेह सागर झील (Udaipur Places To Vist) घूमने के लिए जरुर जाएँ।

पिछोला झील – Udaipur Lake Pichola

पिछोला लेक एक मानव निर्मित झील है जिसको वाले एक आदिवासी पिच्छू बंजारा ने करवाया था। महाराणा उदय सिंह पिछोला झील की सुंदरता से मुग्ध थे इसलिए उन्होंने इस झील के किनारे उदयपुर शहर का निर्माण (History of Udaipur) करवाया था। पिछोला झील उदयपुर की सबसे बड़ी और पुरानी झीलों में से एक है। यह झील यहां आने वाले यात्रियों को अपनी सुंदरता और वातावरण से आकर्षित करती है।

बड़ी पहाड़ों, इमारतों और स्नान घाटों से घिरा यह स्थान शांतिप्रिय लोगों के लिए स्वर्ग के सामान है। उदयपुर के इस पर्यटन स्थल पर आप बोटिंग भी कर सकते हैं। शाम के समय यह जगह सुनहरे रंग में डूबी हुई दिखाई देती है। यहां का खूबसूरत दृश्य पर्यटकों को एक अलग ही दुनिया में ले जाता है। पिछोला लेक परिवार के लोगों और दोस्तों के साथ घूमने (Udaipur Places To Vist) की एक बहुत अच्छी जगह है। अगर आप उदयपुर की यात्रा करने जा रहे हैं तो इस झील में नौका बिहार (बोटिंग ) का मजा लेना न भूलें।

सिटी पैलेस – Udaipur City Palace

इस महल में महाराजा रहते थे और उनके उत्तराधिकारियों ने इस महल को और भी शानदार बना दिया और इसमें कई संरचनाएं जोड़ी। इस पैलेस (Udaipur Palace) में अब कमरे, आंगन, मंडप, गलियारे और छत्त शामिल है। इस जगह पर एक संग्राहलय भी स्थित है जो राजपुत कला और संस्कृति को प्रदर्शित करता है।

यह भी पढ़े – 

उदयपुर घूमने का सबसे अच्छा समय  है –  The Best Time To Visit Udaipur 

अगर आप उदयपुर जाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो बता दें की यहां घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक होता है। सर्दियों का मौसम इस शहर की यात्रा करना एक अनुकूल समय है। रेगिस्तानी क्षेत्र होने की वजह से राजस्थान (Udaipur Rajasthan) गर्मियों में बेहद गर्म होता है जिसकी वजह से इस मौसम में यात्रा करने से बचना चाहिए।

उदयपुर कैसे पहुंचे – How To Reach Udaipur

उदयपुर शहर (Udaipur City of Lakes) महाराणा प्रताप हवाई अड्डा से 24 किमी दूर है। यह एयरपोर्ट भारत के प्रमुख शहरों दिल्ली मुंबई के साथ हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। इसके अलावा ऐसी कई ट्रेन हैं जो उदयपुर रेलवे स्टेशन पर भी रुकती हैं। आप सड़क मार्ग से बस, टैक्सी या कैब की मदद से जयपुर पहुँच सकते हैं।

हवाई जहाज – Udaipur Airport

अगर आप उदयपुर हवाई जहाज से जाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि इसका निकटतम हवाई अड्डा महाराणा प्रताप हवाई अड्डा है जो शहर के केंद्र से लगभग 24 किलोमीटर दूर स्थित है।

यह हवाई अड्डा दिल्ली, मुंबई, जयपुर और कोलकाता जैस देश का कई प्रमुख शहरों से हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे पर उतरने के बाद यहां से आप कैब किराए पर ले सकते हैं या प्री-पेड टैक्सी बुक कर सकते हैं और उदयपुर शहर आसानी से पहुंच सकते हैं।

बस से – Udaipur Bus Stand

उदयपुर की यात्रा सड़क मार्ग से यात्रा करना काफी आरामदायक साबित हो सकता है क्योंकि यह सिटी अच्छी तरह रोड नेटवर्क द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, इंदौर, कोटा और अहमदाबाद से अच्छी तरह से जुड़ा है।

बस से यात्रा करने के लिए भी आपके सामने बहुत से विकल्प होते हैं। आप डीलक्स बसें, एसी कोच और राज्य द्वारा संचालित बसों के माध्यम से उदयपुर की यात्रा कर सकते हैं।

ट्रेन से – Udaipur Railway Station

उदयपुर राजस्थान (Udaipur Rajasthan) का एक प्रमुख शहर है जो रेल के विशाल नेटवर्क पर स्थित है। उदयपुर रेलवे स्टेशन भारत के प्रमुख शहरों जैसे जयपुर, दिल्ली, कोलकाता, इंदौर, मुंबई और कोटा से ट्रेनों द्वारा जुड़ा हुआ है।

भारत के कई बड़े शहरों से उदयपुर के लिए कई प्रतिदिन ट्रेन चलती हैं। रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद आप एक टैक्सी या कैब और एक ऑटो-रिक्शा किराए पर लेकर उदयपुर शहर के पर्यटन और दर्शनीय स्थलों की यात्रा कर सकते हैं।

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *