जीवन चिठ्ठा

Priyanka Gandhi Vadra Biography – प्रियंका गांधी वाड्रा का जीवन परिचय

0
priyanka-gandhi-vadra-biography

प्रियंका गांधी वाड्रा का जीवन परिचय –  Biography of Priyanka Gandhi

Biography of Priyanka Gandhi – वैसे तो प्रियंका गांधी अपने बड़े राजनीतिक  परिवार के ओंदे से पुरे भारत में पहचानी जाती है प्रियंका गांधी का जन्म भारत के गांधी परिवार में हुआ जिनसे हर भारतीय वाकिफ है.

राजनीति से लंबे समय तक दूर रहने के बाद हाल में ही उनको कांग्रेस पार्टी ने महासचिव का पद दे कर राजनीती में सक्रिय किया प्रियंका गांधी वर्तमान में पूर्व उत्तर प्रदेश में प्रभारी है अपनी दादी माँ सब के बड़े राजनीतिक होने के कारण बचपन से उनका भी रिझान राजनीति की और काफी था.

जैसे ही प्रियंका गांधी को कांग्रेस पार्टी में में महासचिव का पद दिया गया कांग्रेस पार्टी के कई लोग उनकी तुलना पूर्व प्रधानमंत्री और देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से करने लगे है. अब दोस्तों वर्तमान समय में 2019 लोकसभा चुनाव आने वाले है प्रियंका अपनी पार्टी के लिए जोरो सोरों से प्रचार प्रसार में लगी हुई  दोस्तों आज हम प्रियंका गांधी के सम्पूर्ण जीवन के बारे में आपको बताने वाले है तो चलिए दोस्तों अब इसकी शुरुआत करते है.

प्रियंका गांधी का जन्म व परिवार – Priyanka Gandhi Birth and Family

दोस्तों प्रियंका गांधी का जन्म एक बड़े राजैनतिक घराने गांधी परिवार में 12 जनवरी, 1972 को दिल्ली में हुआ था प्रियंका गांधी देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पोती और राजीव गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी है और वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एकलौती बहन है.

बचपन से ही देश की बड़ी राजनीतिक पार्टी और गांधी परिवार में पलने वाली प्रियंका गांधी के जीवन में कई बड़ी विकट पल आये दोस्तों जब प्रियंका गांधी महज 19 की थी तब उनके पिता और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री की एक घटना में मौत हो गई इस घटना के बाद गाँधी परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया था पिता राजीव गाँधी की मौत के बाद प्रियंका गाँधी अपनी माँ सोनिया गाँधी की देखरेख में ही रही.

देश के इतिहास में हमेशा अमर रहने वाली इंदिरा गांधी उनकी दादी और फिरोज गांधी उनके दादा थे जो भारत की राजनीति का एक बड़ा नाम थे.

दोस्तों आपको बता दे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू प्रियंका गांधी के नाना थे और देश के लिए स्वतंत्रा संग्राम अहम योगदान देने वाले और मुख्य नेता मोती लाल नेहरू उनके परदादा थे.

हम सब जानते है गांधी परिवार का देश की आजादी में कितना बड़ा योगदान है और इस परिवार ने देश की आजादी से लेकर अब तक अपने कितने लोगो का बलिदान दिया है और इन्हीं बलिदानो की वजह से कांग्रेस पार्टी भारत की सबसे मजबूत राजनीतिक पार्टी बन कर उभरी है.

प्रियंका गांधी की पढ़ाई – Priyanka Gandhi Education

प्रियंका गांधी की पढ़ाई के प्रति काफी रूचि थी उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा राजधानी दिल्ली के ही मॉडर्न स्कूल, कॉन्वेंट ऑफ जीजस एंड मैरी स्कुल से प्राप्त की और अपने कॉलेज की शिक्षा उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी की जीसस एंड मैरी कॉलेज से पूर्ण की प्रियंका गांधी ने अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री  आर्ट्स स्ट्रीम से की.

प्रियंका गांधी की शादी – Priyanka Gandhi And Robert Vadra Love Story

प्रियंका गांधी के जीवन में कई रोचक मोड़ आये उसी तरह उनके विवाह की कहानी भी थोड़ी अलग है जब वे महज 13 साल की थी तब उनको  रॉबर्ट वाड्रा से प्यार हो गया था   रॉबर्ट वाड्रा की बहन प्रियंका गांधी की एक अच्छी दोस्त थी और  रॉबर्ट वाड्रा राहुल गांधी के काफी अच्छे मित्र थे दोनों ने अपने इस प्यार का इजहार घर वालो के सामने कर दिया और 18 फरवरी 1997 को हमेशा के लिए दोनों एक दूसरे के हो गए.

कौन हैं रॉबर्ट वाड्रा ? Who is Robert Vadra दोस्तों रॉबर्ट वाड्रा को कौन नहीं जनता वे एक सफल बिजनेसमैन के तौर पर जाने जाते है उनका भारत और विदेशो में एक बड़ा व्यापार है और कई बड़ी कंपनियों के है लेवल शेयर है प्रियंका और  रॉबर्ट वाड्रा के दो संतान है जिसमे एक बेटी मिराया और एक बेटा रेहान है.

प्रियंका गांधी का राजनीतिक सफर – Priyanka Gandhi Political journey

राजनीतिक परिवार में जन्मी प्रियंका गांधी ने पहली बार 16 साल की उम्र में एक सार्वजनिक भाषण दिया राजनीती से लंबे समय तक दूर रहने के बाद भी प्रियंका गाँधी अपनी माँ और भाई राहुल गाँधी को पीछे से स्पॉट करती रही और हर चुनाव में वो कांग्रेस पार्टी के लिए कई अहम कार्य करती रही वो बिना पार्टी में शामिल हुए पार्टी के कई बड़े नेताओ से मिलती जुलती रही.

साल 2004 में ऐसा माना जा रहा था की इस बार प्रियंका गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपी जाएगी लेकिन इस पद को 2004 में सोनिया गांधी खुद कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष बनी इस दौरान प्रियंका गांधी ने कांग्रेस के लिए अभियान लीडर के रूप में काम किया और साल 2004 में कांग्रेस ने आम चुनाव में जीत भी हासिल भी की.

जब साल 2007 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव थे तब उन्होंने कांग्रेस पार्टी के लिए कई अहम रेलिया की और उत्तरप्रदेश की करीब 10 सीटों पर जमकर रैलियां की और लोगो को कांग्रेस पार्टी की तरफ लाने का बड़ा काम किया.

वो बिना सामने आये कांग्रेस पार्टी के लिए काम करती रही और साल 2009 और 2014 में भी भी पार्टी के अंदर सक्रीय रही लेकिन साल 2019 से ठीक पहले आम चुनावों में बड़ा उलटफेर करते हुए आधारिक तौर पर प्रियंका गांधी को कांग्रेस में महासचिव पद दिया इस पद के साथ कांग्रेस पार्टी की प्रियंका गांधी से काफी उम्मीदें जुड़ी है.

साल 2019 में कांग्रेस पार्टी ने प्रियंका गांधी को लांच कर उनके कंधो पर भारी उम्मीदों का बोझ डाल दिया है अब बस ये देखना है की वे विपक्षी पार्टियों का किस तरह सामना करती है और अपनी पार्टी के लिए 2019 के आम चुवावों में कितना कुछ कर पाती है इस चुनाव के बाद प्रियंका गांधी का राजनीतिक करियर भी तय होगा.

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *