Savitribai Phule Quotes – भारत की प्रथम शिक्षिका सावित्रीबाई फुले के अनमोल विचार

सावित्रीबाई फुले के अनमोल विचार – Savitribai Phule Quotes

19वीं सदी की समाज सुधारक सावित्रीबाई फुले जिन्होंने महिलाओं की शिक्षा और सशक्तिकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। महात्मा ज्योतिराव गोविंदराव फुले की पत्नी सावित्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी, 1831 को हुआ था। उन्होंने अपने पति के साथ पुणे में भिडे वाडा में पहली कन्या विद्यालय की स्थापना की। उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के अलावा महिलाओं के अधिकारों के लिए न सिर्फ आवाज़ उठाई बल्कि सराहनीये कार्य भी किये। आज हम सावित्रीबाई फुले की दूरदर्शिता और कर्मनिष्ठता से ओत प्रोत प्रेरणादायक और क्रांतिकारी अनमोल विचारों Savitribai Phule Quotes को जानेंगे।

सावित्रीबाई फुले के अनमोल विचार Savitribai Phule Quotes In Hindi

  • गरीबों और जरूरतमंदों के लिए हितकारी और कल्याणकारी कार्य शुरू किए हैं। मैं अपने हिस्से की जिम्मेदारी भी निभाना चाहती हूं। मैं आपको विश्वास दिलाती हूं कि मैं आपकी हमेशा मदद करुँगी। मैं कामना करती हूं कि ईश्वरीय कार्य अधिक लोगों की मदद करेंगे।
  • उसका नाम है अज्ञान, उसे धर दबोचो, मज़बूत पकड़कर पीटो और उसे जीवन से भगा दो।
  • जाओ जाकर पढ़ो लिखो बनो मेहनती, बनो आत्मनिर्भर काम करो ज्ञान और धन इकट्ठा करो. ज्ञान के बिना सब खो जाता है ज्ञान के बिना हम जानवर बन जाते हैं इसलिए खाली मत बैठो. जाओ जाकर शिक्षा लो.
  • अंग्रेजी मैया, अंग्रेजी वाणी शूद्रों को उत्कर्ष करने वाली पूरे स्नेह से। अंग्रेजी मैया अब नहीं है मुगलाई और नहीं बची है अब पेशीबाई, मूर्खशाही। अंग्रेजी मैया देती सच्चा ज्ञान शूद्रों को, देती है जीवन वह तो प्रेम से। अंग्रेजी मैया शूद्रों को पिलाती है दूध। पालती पोसती है माँ की ममता से। 
  • स्वावलंबन का हो उद्दम, प्रवृति ज्ञान-धन का संचय करो मेहनत करके। बिना विद्या जीवन व्यर्थ पशु जैसा, निठल्ले ना बैठे रहो करो विद्या ग्रहण। शूद्र अतिशूद्रों के दुख दूर करने के लिए मिला है कीमती अवसर अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त करने का। 
  • तुम तो बकरी गाय को सहलाते हो, नाग पंचमी पर नाग को दूध पिलाते हो। लेकिन दलितों को तुम इंसान नहीं अछूत मानते हो। 
  • स्वाभिमान से जीने के लिए पढ़ाई करो। पाठशाला ही इंसानों का सच्चा कहना है। 
  • मेरी कविता को पढ़ सुनकर यदि थोड़ा भी ज्ञान हो जाए प्राप्त। मैं समझूंगी मेरी परिश्रम सार्थक हो गया। मुझे बताओ सत्य निडर होकर की कैसी है मेरी कविताएं ज्ञान परख यथार्थ मनभावन या अद्भुत तुम ही बताओ। 

यह भी पढ़ें –

  1. Atal Bihari Vajpayee Quotes – अटल बिहारी वाजपेयी के अनमोल वचन
  2. Teachers Day Shayari & Wishes – शिक्षक दिवस पर शायरी
  3. Swami Vivekananda Quotes & Thoughts – स्वामी विवेकानंद के सुविचार
  4. महिला सशक्तिकरण पर कोट्स – Women Empowerment Quotes

“भारत की पहली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले के अनमोल विचार Savitribai Phule Quotes In Hindi” ने आपको  कितना इंस्पायर्ड किया, कृपया कमेंट कर अवश्य बतायें, आपके किसी भी प्रश्न एवं सुझावों का स्वागत है। शेयर करें, जुड़े रहने की लिए Subscribe करें . धन्यवाद

Share this On

Leave a Comment