jiohind.com

प्राकृतिक रूप से त्वचा की चमक को बढ़ाने के 10उपाय – 10 tips for glowing skin in Hindi

beauti-tips

1 चेहरे पर चमक लाने के घरेलू उपाय

प्राचीन आयुर्वेद में सुन्दरता का रहस्य छिपा हुआ हैं। आयुर्वेदिक उपटन कोमलता से त्वचा को पोषण देते हैं और इसे साँस लेने में मदद करते हैं।आपके रसोई घर में उपलब्ध सामग्री से अच्छा और क्या हो सकता हैं।

आपका संपूर्ण सुंदरता पैक:

बेसन दो चम्मच
चन्दन पाउडर
हल्दी पाउडर आधा चम्मच
कपूर चुटकी भर
सादा पानी/ दूध/ गुलाब जल

बेसन, चन्दन पाउडर, कपूर और हल्दी पाउडर को सादे जल या दूध या गुलाब जल में इस प्रकार मिलाते हैं कि गाढा घोल बन जाये।इसे चेहरे पर लगाए। 20 मिनट तक लगा रहने दे फिर जल से धोले। यदि आप रूई को ठंडे गुलाब जल में भिगो कर आँखों पर रख देते हैं तो आपको इससे ताजगी का अहसास होगा। साथ साथ कुछ मन को प्रसन्नता देने वाला वाद्य यंत्र संगीत सुनिए। 20 मिनट के बाद आपको ताजगी से भरी हुई निखरी त्वचा मिलेगी।

2 व्यायाम करे

कुछ दौड़ना, जॉगिंग करना या सूर्य नमस्कार के चरण तेज गति से करने से शरीर का रुधिर परिसंचरण तंत्र सुधरता हैं। पसीना निकलना आपके लिए अच्छा हैं। जब त्वचा स्वेद स्रावण से साफ़ हो गई हो, तो कुछ समय बाद ठन्डे जल से धो सकते हैं।

3 नियमित योगाभ्यास

जब आप नीचे की ओर झुक के डॉग पोज़ में होते हैं, तब क्या अपने अपनी साँस पर ध्यान दिया हैं? योगाभ्यास की सुन्दरता शरीर तथा साँस पर ध्यान देने में ही है। जितनी बार आप साँस छोड़ते हैं तो आपके शरीर से हानिकारक पदार्थ बहार निकलते हैं। योग व प्राणायाम, शरीर को साफ़ करने की प्रक्रिया को गति प्रदान करते हैं और आपकी त्वचा को तरोताज़ा व प्रभास से परिपूर्ण कर देते हैं| त्वचा और चेहरे में प्राकृतिक निखार के लिए योग प्रतिदिन करना चाहिए। 3 प्राकृतिक भोजन

हम जो खाते हैं उसी से हमारे शरीर का निर्माण होता हैं। अतः ताज़ा, साफ एवं रसीला भोजन त्वचा और शरीर को स्वस्थ बनाता हैं। एक संतुलित भोजन का सेवन करना चाहिए जिसमे प्रोटिन और विटामिन प्रचुर मात्रा में हो। फल तथा हरी पत्तियों वाली सब्जियां अधिक मात्रा में हो। सही मात्रा में सही समय पर खाना चाहिए। चहेरे की देखभाल हेतु इस भोजन को ग्रहण करके आप त्वचा एवं चेहरे पर चमक बढ़ा सकते हैं।

4 तेल से मालिश

चेहरे पर तेल से सप्ताह में एक बार मालिश आश्चर्यजनक परिणाम दे सकती है। अपनी त्वचा की प्रकृति के अनुसार तेल का चुनाव करना चाहिए, जैसे पिसिरडला या नारायण तेल। सरसो ,नारियल,बादाम या कुमकदी का तेल त्वचा की चमक बढ़ाने के अच्छे पोषक तत्त्व हैं। चेहरे का मर्म (Facial Marma), एक गहरे आराम की प्रक्रिया है, जिससे कि चेहरे की मांसपेशियों तनाव से मुक्त हो जाती हैं है और मन को आराम मिलता हैं।

5 मुस्कान

जब आप बहुत सुन्दर कपड़े पहनते हैं तो पूर्णता के लिए आपको कुछ और चाहिए और वो है आपकी मुस्कान। चाहे आपने अपना समय, ऊर्जा और पैसा अपने शरीर और सुंदरता के लिए खर्च किया हैं परंतु अधिकांश हम अपनी आतंरिक ख़ुशी व मुस्कान को दर्शाना भूल जाते हैं।

6 मन को शांत रखे

यदि आप दुःखी, क्रोधित,निराशापूर्ण या उदासी से भरे हैं तो आपका चेहरा महान नहीं दिख सकता। अतः इस बारे में निश्चित होकि आपके मन की शांति और ख़ुशी आपको लक्ष्य से हिला नहीं सकती। इसका एकमात्र उपाय ध्यानहैं। यह एक साधारण आवश्यकता हैं। जो भौतिकता से परे हैं।

7 ध्यान करे

एक मोमबत्ती प्रतिदिन प्रकाश विकिरित करती हैं। ध्यान हमारे अंदर की मोमबत्ती को अनूठे प्रकार से प्रभावित करता हैं। जितना अधिक आप ध्यान करते हैं,उतना अधिक आप निखरते हैं। कलाकार भी ध्यान द्वारा अपने औरा को बढातेहैं। यह एक कल्पना नहीं हैं, यह बिलकुल सत्य हैं। ध्यान से आप अंदर और बाहर दोनो से चमकते हैं। यह चमक मेकअप द्वारा नहीं पाई जा सकती।

8 स्वयं को जाने

क्या कुछ दिन ऐसे होते हैं जब आप त्वचा पर क्रीम लगाते हैं और त्वचा फिर भी सुखी रहती हैं। कभी कभी आप और आपके मित्र एक ही क्रीम लगाते हैं और दोनों की त्वचा पर अलग अलग असर होता हैं। आपको आवश्यकता हैं कि आप अपने शरीर की प्रकर्ति पर ध्यान दे। आयुर्वेद के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति का शरीर तीन तत्वों से मिलकर बना होता हैं – वात, पित्त और कफ।

यह तत्व आपके शरीर, व्यक्तित्व, और तावच का निर्माण करते हैं। यदि आपकी त्वचा रुखी हैं तो आपके शरीर में वात तत्त्व बढ़ गया है । जिस व्यक्ति की पित्त प्रकृति होती है उसकी त्वचा सामान्य होती है । तैलीय त्वचा होने का अर्थ हैं कि आपके शरीर में कफ तत्त्व अधिक मात्रा में है। यदि आपको आपके शरीर की प्रकृति का ज्ञान हैं तो आप यह समझ सकते हैं की आपको कौन सा भोजन खाना चाहिए और कौनसा त्यागना चाहिए।

9 सुदर्शन क्रिया

क्या आप सोचते हैं कि सही तरीके से श्वसन से आप दाग और मुहाँसे से छुटकारा पा सकते हैं? हाँ, यह सही है,जब हम चिंतामुक्त होते हैं तो हमारे तनाव के कारण उत्पन्न मुहासे और दाग कम हो जाते हैं। सुदर्शन क्रिया प्राणायामकी ऐसी विधि हैं जो शरीर और मन दोनों के तनाव को दूर करती हैं तथा हमारे शरीर और मन में संतुलन बनाती हैं।

 10 सदा युवा बने रहे

सामान्य रूप से सुन्दर होने का अर्थ युवा होना और हर वस्तु में नयापन देखना हैं| अगर आप स्वयं को युवा अनुभव करते है तो आप युवा दिखते हैं। ध्यान प्राकर्तिक रूप से उम्र की गति को घटाता हैं तथा युवावस्था और ताजगी बनाये रखता है। अतः आगे बढ़े और स्वयं को ह्रदय से 18 साल का अनुभव करे।

Add comment

Must Get It ..