ज्ञान पिटारा

यो-यो टेस्ट क्या है – What Is Yo-Yo Test Meaning, Levels And Scores In Hindi

0
YoYo-Test Meaning

यो-यो टेस्ट – Yo-Yo Test Cricket

Yo-Yo Test – यो-यो टेस्ट क्या है (What Is Yo-Yo Test) क्रिकेट (Yo-Yo Test In Cricket) जैसे खेलों में ये क्यों (Yo-Yo Test Fitness) जरुरी है, इसके स्कोर (Yo-Yo Test Scores ) लेवल (Yo-Yo Test Levels) क्या होते है, आइये विडिओ (Yo-Yo Test Video) के माध्यम से अच्छे से समझे.

यो यो टेस्ट बीप टेस्ट में वेरिएशन किया हुआ एक नया टेस्ट है, इस टेस्ट की वजह से ही क्रिकेट में युवराज सिंह और सुरेश रैना जैसे खिलाडियों को खेल से बाहर रहना पड़ा . और यही वजह है की इस टेस्ट के बारे में लोग जानना चाहते है कि यह है क्या, इसमें क्या होता है.

यो-यो टेस्ट क्या है – What Is Yo-Yo Test

Yo-Yo Test Meaning – यो यो टेस्ट एक तरह का फिटनेस टेस्ट है जो की क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी रक्बी आदि खेलों में होता है.

इस टेस्ट का मुख्य उद्देश्य खिलाडियों का स्टेमिना जांचना और फिटनेस को परखना है. हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच ने यह ऐलान कर दिया है कि अब क्रिकेट में केवल फिट खिलाडियों को ही जगह दी जाएगी. इसी के साथ फिटनेस कोच शंकर वासु ने भी सभी खिलाडियों के लिए फिटनेस टेस्ट अनिवार्य कर दिया है.

जैसा की हमने पहले ही बताया कि यह यो यो टेस्ट बीप टेस्ट का वेरिएशन है और इसे डेनमार्क फुटबॉल फिजियोलॉजिस्ट जेन्स बैंग्सबो द्वारा विकसित किया गया है.

Yo-Yo Test Levels

इस टेस्ट के दो वर्जन है, लेवल 1 और 2 क्रमशः शुरुआत और एडवांस वर्जन है. इसका लेवल 1, बीप टेस्ट की तरह ही इफेक्टिव है परंतु इसके लेवल 2 में स्पीड बढाई जाती है और इसमे अलग अलग समय पर स्पीड क्रमशः बढाई जाती है. इस टेस्ट में हर 40 मीटर की दौड़ के बाद रिकवरी का समय भी दिया जाता है.

Yo Yo Test In Cricket

भारतीय क्रिकेट टीम नियमित रूप से फिटनेस परीक्षणों की एक श्रृंखला से गुजरती है और BCCI केवल ‘यो-यो’ धीरज परीक्षण पर भरोसा करने वाली एकमात्र संस्था नहीं है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड क्रिकेट टीम भी इस परीक्षण का उपयोग करके खिलाड़ियों की फिटनेस का विश्लेषण करती है।| इस टेस्ट में पास होकर ही खिलाडी टीम का हिस्सा बन सकता है |

Yo-Yo Test Scores

यो-यो आंतरायिक परीक्षण आमतौर पर स्तर 1 के लिए 6-20 मिनट और स्तर 2 के लिए 2-10 मिनट के बीच होता है।

बीसीसीआई ने टेस्ट पास करने के लिए खिलाड़ियों के लिए 19.5 स्कोर रखा है, यह बताया गया था कि युवराज सिंह केवल 16 रन बना सके, और विराट कोहली और मनीष पांडे ने 19 और 19.2 के स्कोर के साथ टेस्ट में बाजी मारी।

यो यो टेस्ट की प्रक्रिया  – Yo Yo Test Procedure In Hindi

हम यहाँ आपको कुछ चित्र और डिस्क्रिप्शन के माध्यम से मैदान में होने वाले यो यो टेस्ट की प्रक्रिया समझाने जा रहें है. इसकी सहायता से आप इस टेस्ट के बारे में अच्छे से अंदाजा लगा सकते है.

नीचे चित्र की सहायता से हम आपको खिलाडियों की मैदान में स्थिति बताने का प्रयास कर रहें है, जिससे आप इस टेस्ट को आसानी से समझ पायेंगे .

Yo-Yo Test Video

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *