Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
jiohind.com

गोवा के दर्शनीय स्थल – Goa Tourism Places To Visit In Hindi

Goa – गोवा का नाम आते ही दिल को छु जाने वाला समुद्र तट और आसमान को छुते हुए नारियल के पेड़ हमारे आँखों के सामने आ जाता हैं। गोवा भारत के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। पर्यटकों की यह पसंदीदा जगह है और दुनिया भर से पर्यटक यहां आते हैं।

राज्य में भारतीय और पुर्तगाली संस्कृति का अद्भुत मिश्रण दिखाई देता है और यहाँ की वास्तुकला यात्रियों को आकर्षित करती है। विविध संस्कृति और समुदाय के लोग यहाँ घुमने के लिए आते है।

गोवा राज्य का इतिहास  – Goa History 

1510 में पुर्तगालियो ने स्थानिक मित्र, तिमय्या की सहायता से सत्तारुढ़ बीजापुर के सुल्तान यूसुफ़ आदिल शाह को पराजित किया। इसके बाद प्राचीन गोवा में उन्होंने स्थायी राज्य की नीव रखी। गोवा में यह पुर्तगाली शासन की शुरुवात थी और यह 1961 के राज्य-हरण तक तक़रीबन 4.5 शताब्दी तक चला।

1843 में पुर्तगाली प्राचीन गोवा से निकलकर पणजी चले गये। 18 वी शताब्दि के बीच में पुर्तगाली गोवा वर्तमान राज्य की सीमा तक विकसित हो चूका था। साथ ही भारत में जब तक उनकी सीमा स्थिर होती तबतक वे भारत के दुसरे स्थानों से अपने अधिकारों को खो चुके थे और पुर्तगाली भारतीय राज्य की स्थापना की गयी, जिसमे से गोवा विशालतम प्रान्त था।

1947 को भारत जब ब्रिटिशो की गुलामी से आज़ाद हुआ तो भारत ने पुर्तगाली प्रांतो से भारतीय उपमहाद्वीप को भारत को सौपने की मांग की। पुर्तगाल ने भी अपने भारतीय परिक्षेत्रो की संप्रभुता पर बातचीत करने से इंकार कर दिया। 19 दिसंबर 1961 को विजय के नेतृत्व में भारतीय सेना ने आक्रमण किया गोवा और दमन एवं द्वीप को भारतीय संघ में शामिल कर दिया।

दमन एवं द्वीप के साथ गोवा को भारतीय संघ के केंद्रशासित प्रदेश में शामिल कर लिया गया। 30 मई 1987 को केंद्र शासित प्रदेश को विभाजित कर दिया और गोवा को भारत का 25 वा राज्य बनाया गया। जबकि दमन एवं द्वीप आप भी भारत के केंद्रशासित प्रदेश में शामिल है।

गोवा राज्य की भाषा –  Language Of Goa state

गोवा बहुभाषी राज्य है भारत और विदेशों में गोवा में रहने वाले विभिन्न क्षेत्रों, जातीय जातियों और धर्मों के लोग होने के नाते, उनकी भाषा भी तदनुसार प्रभावित हुई। इसलिए, गोवा में इस्तेमाल की जाने वाली भाषाओं की कुल संख्या अंग्रेजी, मराठी, पुर्तगाली, हिंदी और कोंकणी है। कोंकणी, हालांकि, गोवा की आधिकारिक भाषा है कोंकणी देवनागरी लिपि में लिखी गई है राज्य में बोली जाने वाली अन्य प्रमुख भाषाएं मराठी, कन्नड़ और उर्दू हैं। गुजराती और हिंदी भी राज्य में काफी संख्या में बोलते हैं। स्कूलों में मराठी भी व्यापक रूप से पढ़ाया जाता है।

गोवा राज्य की संस्कृति  –  Culture Of Goa

गोवा की संस्कृति विशेषतः हिन्दू और कैथोलिक जनसँख्या में विभाजित है। लोग दोनों ही संस्कृतियों का सम्मान करते है। हवाई और रेल मार्ग से जुड़ा हुआ होने के कारण, यहाँ पडोसी राज्य के लोग भी आते है। भारत के दुसरे राज्यों से आए हुए नये लोग भी यहाँ रहने लगे है।

गोवा के कैथोलिक धर्म के लोग हिन्दू संस्कृति का सम्मान करते है और साथ ही हिन्दू रीती-रिवाजो को भी अपनाते है। दोनों ही धर्म के लोगो के बीच का प्यार यहाँ देखा जा सकता है। राज्य में बहुत सी जगहों पर हिन्दू धर्म के मंदिर भी बने हुए है, जहाँ हिन्दू धर्म के देवताओ की मूर्तियाँ भी स्थापित की गयी है।

गोवा में त्यौहार  – Festival in Goa

गोवा में मेले और त्यौहार वास्तव में शहर के रहने वालों के साथ-साथ मनोरंजक समुद्र तट शहर के आगंतुकों के लिए एक ताज़ा अनुभव है। गोवा में विभिन्न त्योहारों और घटनाओं को सभी धूमधाम और शो के साथ मनाया जाता है।

सबसे लोकप्रिय मेले और त्योहारों की लंबी सूची में मानसून महोत्सव गोवा, गोवा में क्रिसमस और नए साल का समारोह और तीन राजा पर्व के महोत्सव शामिल हैं। गोवा क्रिसमस समारोह और नए साल की समारोह दुनिया के प्रसिद्ध हैं और दुनिया भर के लोग आते हैं और इन यादगार क्षणों का आनंद उठाते हैं। सबसे अधिक प्रतीक्षित गोवा कार्निवल फेस्टिवल होता हैं।

गोवा विश्व प्रसिद्ध कार्यक्रमों का कार्निवल भी है। रंग-बिरंगी मास्क और नाव, ड्रम और प्रतिवर्ती संगीत और नृत्य प्रदर्शनों के साथ यहाँ बहुत से कार्यक्रमों का आयोजन वैश्विक स्तर पर किया जाता है। वर्षा ऋतु के आगमन के साथ ही प्रकृति गोवा को कुछ ऐसा ही अलग, लेकिन अदभुत स्वरूप प्रदान करती है।

यह स्थान शांतिप्रिय पर्यटकों और प्रकृति प्रेमियों को बहुत भाता है। गोवा एक छोटा-सा राज्य है। यहां छोटे-बड़े लगभग 40 समुद्री तट है। इनमें से कुछ समुद्र तट अंर्तराष्ट्रीय स्तर के हैं। इसी कारण गोवा की विश्व पर्यटन मानचित्र के पटल पर अपनी एक अलग पहचान है।

गोवा के दर्शनीय स्थल की सूची  –  List of Goa Tourism Places To Visit 

ओल्ड गोवा ओल्ड गोवा पणजी में स्थित है. यह पुर्तगालीयों के समय उनकी राजधानी हुआ करता था. एशिया में सबसे अधिक चर्च और गिरिजाघर इसी जगह स्थित है. यहाँ की कुछ पुरानी बिल्डिंग को पुरातत्व विभाग ने संग्रहालय बना दिया है, इन संग्रहालय में गोवा के इतिहास को करीब से देखा जा सकता है. ओल्ड गोवा की सबसे प्राचीन और फेमस बिल्डिंग है ‘दी कान्वेंट’ और ‘चर्च ऑफ़ सेंट फ्रांसिस’ इसका निर्माण 1521 में हुआ था. यहाँ सेंट फ्रांसिस जेवियर के शरीर के अवशेष अभी भी संरक्षित करके रखे गए है. उनके पार्थिव शरीर को हर 10 साल में लोगों को दिखने के लिए सामने लाया जाता है. 2015 में ऐसा हुआ था.

गोवा बीच  गोवा अरब सागर के किनारे स्थित है. समुद्र किनारे गोवा में कई बीच है, जहाँ कई तरह के रिसोर्ट, होटल, हट्स बन चुके है. इन समुद्र किनारे का मजा लेने के लिए लोग मुख्य रूप से गोवा जाते है. यहाँ हर एक बीच अपने आप में अलग है. मैं कुछ चुनिन्दा बीच के बारे में आपको बताती हूँ –

अगोंडा  यह साउथ गोवा में स्थित है. यह बहुत लम्बा एवं चौड़ा बीच है. शहर के शोरगुल से दूर, यहाँ आने से मन शांत होता है. यहाँ बहित अधिक लोगों की भीड़ भी नहीं होती है. जो कोई बस रिलैक्स करना चाहता है, उसे इस बीच में जरुर जाना चाहिए. यहाँ बीच किनारे हट्स है, जहाँ आप रुक सकते है और प्रकृति की सुन्दरता का मजा ले सकते है.

अंजुना यह नार्थ गोवा में है. यहाँ हर बुधवार फ़्ली मार्किट लगता है, जहाँ लोग बहुत अधिक मात्रा में आते है और शॉपिंग का मजा लेते है. इस बीच में हमेशा लोगों की भीड़ देखी जा सकती है.

अरम्बोल नार्थ गोवा में स्थित यह बीच, गोवा के अंत में बसा है. जो आजकल लोगों का चाहिता बीच बना हुआ है. एक समय में यह मछली पकड़ने वालों का गाँव हुआ करता था, लेकिन अब ये पर्यटकों से भरा हुआ समुद्र किनारा बन गया है. यहाँ योग, मेडिटेशन भी लोग करते है. इस बीच में तरह तरह के वाटर स्पोर्ट्स भी होते है, साथ ही समुद्र किनारे डोल्फिन को भी देखा जा सकता है. यह बीच रात भर खुला रहता है, रात के समय यहाँ मौहोल और सुहावना हो जाता है. हल्की म्यूजिक के साथ, लोग यहाँ शानदार शाम बिताने आते है. गोवा से दूर होने के कारण यहाँ भीड़ कम होती है, शोरगुल से दूर ये पीसफुल प्लेस है.

बागा और कालंगुते यह बीच गोवा के सबसे व्यस्तम बीचों में से एक है. कालंगुते बीच जहाँ ख़त्म होता है, वहां से बागा बीच शुरू होता है. दोनों कहाँ से कहाँ तक है, समझ पाना मुश्किल है. बागा बीच, कालंगुते बीच से ज्यादा डेवलप है, और यहाँ भीड़ भी कम होती है. यहाँ पर लोग वाटर स्पोर्ट्स का मजा उठाने जाते है. अगर आप अच्छे खाने और वाइन का मजा लेना चाहते है, तो इस बीच के पास आपको बहुत से रेस्तरां मिल जायेंगें. बागा बीच के आस पास रात भर लोगों की भीड़ जमा रहती है, इसके पास में फेमस टिटोस एवं कैफ़े मैंबो है. इसके आप पास और भी स्थल है –

से कैथेड्रल

अगुअदा फोर्ट

सेंट अलेक्स चर्च

बागा रिट्रीट हाउस

बेनौलिम यह कोल्वा बीच के पास स्थित है, लेकिन दोनों बीच में बहुत अंतर है. यहाँ मछली पकड़ने का व्यापार होता है. इस बीच में पार्टी नहीं होती है, लेकिन यहाँ वाटर स्पोर्ट्स का मजा लिया जा सकता है. यह बीच बहुत शांत रहता है, दिसम्बर के पीक सीजन में बस यहाँ भीड़ देखी जा सकती है.

कोल्वा यह अधिक फेमस बीच है, जहाँ क्राउड भी अधिक होता है. वीकेंड पर पर्यटक के साथ साथ यहाँ लोकल वालों की भी बहुत भीड़ रहती है. अक्टूबर के समय यहाँ और अधिक भीड़ होती है, क्यूंकि इस समय लोग देश विदेश से कोल्वा चर्च में आते है. यह एरिया काफी डेवलप है, जहाँ होटल, बार, रेस्तरां, फ़ूड स्टाल सब मिल जाता है. इस बीच में विदेशियों की जगह भारतीयों की भीड़ होती है. विदेशी यहाँ अधिक एन्जॉय नहीं करते है, क्यूंकि यहाँ रात का शोर शराबा नहीं होता है.

पालोलेम यह बीच सेमीसर्किल शेप में बना हुआ है. यहाँ बड़े बड़े खजूर के पेड़ है, साथ ही यहाँ की रेत बहुत सॉफ्ट है. इस बीच में पीक सीजन में बहुत भीड़ रहती है. यहाँ हर साल सीजन के समय अस्थाई हट्स बनाये जाते है, जहाँ लोग इस बीच किनारे रुक मजे ले सकते है.

पणजी यह मंडोवी नदी के पास स्थित है. इस शहर एतेहासिक है, जहाँ पुर्तगालीयों के प्रभाव को अभी भी देखा जा सकता है. भारत का पहला और एशिया का सबसे पुराना मेडिकल कॉलेज ‘गोवा मेडिकल कॉलेज’ पुर्तगालीयों द्वारा पणजी में बनवाया गया था. पणजी में मुख्य दर्शनीय स्थल ये है –

रिस मागोस फोर्ट

फोर्ट अगुअदा

18 जून रोड

गोवा पुरातत्व संग्रहालय

सचिवालय

डोना पौला बीच

मिरामार बीच

डॉ सलीम अली पक्षी अभयारण्य

गोवा राज्य संग्रहालय

दुर्गा मंदिर

जामा मस्जिद

वास्को-डा-गामा  1543 में इसे पुर्तगालीयों द्वारा बनाया गया था. यह गोवा का मुख्य औद्योगिक स्थल हुआ करता था. एक फेमस पुर्तगाली के नाम पर इस शहर का नाम वास्को-डा-गामा रखा गया था. गोवा की संस्कृति और यहाँ के लाइफस्टाइल को देखना चाहते है तो इस शहर में आपको जरुर जाना चाहिए. वास्को-डा-गामा के फेमस स्थल –

बोग्मालो बीच

वेल्सो बीच

मोरमुगाओ पोर्ट

पायलट पॉइंट

जापानीज गार्डन

जुआरी रिवर

नवल एविएशन संग्रहालय

मापुसा मापुसा गोवा की फेमस जगह में से एक है. यहाँ हर शुक्रवार बाजार लगता है, जहाँ कम दाम में अच्छी चीजें ली जा सकती है. मापुसा के आस पास की जगह –

कालचा बीच

मैस्करेनहास हवेली

अर्पोरा

अल्दोना

चपोरा किला

श्री कालिका मंदिर

बोम जीसस के बेसिलिका

मार्गो यह गोवा की दुसरे नंबर की बड़ी सिटी है, साथ ही पुरानी भी है. यह गोवा का वाणिज्यिक केंद्र भी है. पुर्तगालीयों के समय इसे मडगांव कहा जाता था, लेकिन बाद में इसका नाम मार्गो रख दिया गया. यह गोवा का मुख्य धार्मिक स्थल भी है, यहाँ बहुत से धार्मिक केंद्र है. मार्गो में स्थित दर्शनीय स्थल –

कैनोपी गोवा

कोल्वा बीच

लौटोलिम

अकुएम की गुफाएं

वेल्सो बीच

टाउन स्क्वायर

मोंटे हिल

जॉर्ज बरेटो पार्क

कोलोनिकल स्टाइल विला

गोवा जाने का तरीका  – How to reach Goa

एयरप्लेन के द्वारा By Airगोवा में एक ही एयरपोर्ट है, ‘गोवा इंटरनेशनल एअरपोर्ट’. यह वास्कोडीगामा के पास स्थित है. यहाँ से नेशनल एवं इंटरनेशनल दोनों फ्लाइट का आवागमन होता है.

ट्रेन के द्वारा By Trainगोवा में 2 रेलवे लाइन है – साउथ वेस्टर्न रेलवे एवं कोंकण रेलवे. कोंकण रेलवे लाइन का निर्माण 1990 में ही हुआ है, इससे देश के सभी पश्चिमी हिस्सों से इस ट्रेन का जुड़ाव है. गोवा की राजधानी पणजी में रेलवे स्टे    शन नहीं है. गोवा के अन्य शहर वास्कोडीगामा एवं मडगांव गोवा के बड़े जंक्शन है.

रोड के द्वारा By Road गोवा के पहुँचने के लिए रोड के द्वारा भी पहुंचना अच्छा विकल्प है. यहाँ के लिए बहुत ही प्राइवेट एवं सरकारी बसें चलती है. मुंबई से वॉल्वो चलती है, जिससे बहुत से लोग बस से ही गोवा पहुँचते है. गोवा के अंदर पब्लिक ट्रांसपोर्ट बहुत अच्छा है. यहाँ घुमने के लिए लोग पर्सनल दो पहिया गाड़ी बुक कर लेते है. ये गाड़ी वहां हर चौराहे, होटल में मिल जाती है. इन दो पहिया गाड़ी चलाने के लिए बस आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस होना चाइये, फिर बस पूरा गोवा आपका है. आप जहाँ चाहें अपने हिसाब से जा सकते है.

Add comment

Must Get It ..