Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
jiohind.com

पुणेके दर्शनीय स्थल – Places To Visit In Pune In Hindi

pune-city

पुणे के पर्यटन स्थल – Tourist Places In Pune

Pune  – पुणे महाराष्ट्र राज्य का दूसरा सबसे बड़ा शहर और इसकी सांस्कृतिक राजधानी है जो महाराष्ट्र के सबसे खास पर्यटन स्थलों में से एक है। समृद्ध इतिहास और आधुनिकता का मिश्रण इस शहर को बेहद खास बनता है। पुणे एक ऐसा शहर है, जो यहां आने वाले पर्यटकों को कभी निराश नहीं करता और उनका पूरी तरह से मनोरंजन करता है। पुणे यात्रियों को कई पिकनिक स्पॉट प्रदान करता है, इसके अलावा इस शहर के ऐतिहासिक किलें, साफ समुद्र तटों, हरियाली और कई बहते हुए झरने इस शहर को एक खास पिकनिक स्पॉट बनाते हैं

पुणे शहर का इतिहास –  Pune City History

  1. पुणे शहर के इतिहास की बात करें तो बता दें कि यहाँ पर विभिन्न राजवंश शासकों ने शासन किया। 758 ईस्वी और 768 ईस्वी की तांबे की प्लेटों से पता चलता है कि राष्ट्रकूटों ने एक समय पर इस क्षेत्र पर शासन किया था।
  2. पुणे गजेटियर पुणे शब्द को पुण्य के रूप में व्याख्या करता है जिसका मतलब होता है एक पवित्र स्थान।
  3. राष्ट्रकूटों के शासन के बाद पुणे पर यादव वंश का शासन था। इसके बाद सत्रहवीं शताब्दी के मध्य तक मुगल शासकों ने इस शहर पर शासन किया।
  4. मराठा शासक शिवाजी के उदय से पुणे बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हुआ था जिन्होंने अपना बचपन पुणे में लाल महल में बिताया, जो उनके पिता शाहजी द्वारा बनाया गया था। इस महल में शिवाजी की माँ जीजाबाई एक दशक तक रहीं थी और औरंगजेब के चाचा, शाइस्ता खान को शिवाजी ने लाल महल में ही हराया था।
  5. 1680 में शिवाजी की मृत्यु के बाद औरंगज़ेब ने पुणे का नाम मुहियाबाद कर दिया। इसके बाद पुणे एक बार फिर दूसरे पेशवा थोराला (वरिष्ठ) बाजीराव के शासन के समय महत्व में आया, जिन्होंने 1720 से 1740 तक इस शहर पर शासन किया था। पेशवाओं का महल (शनिवारवाड़ा) का निर्माण भी इसी समय किया गया था।
  6. नानासाहेब पेशवा ने 1740 से 1761 तक मराठा राज्य पर शासन किया और उन्होंने पुणे शहर के शहरीकरण पर जोर दिया और पुणे में पेठ या वार्ड स्थापित करने के लिए लिए बढ़ावा दिया। नानासाहेब पेशवा यहां के खास मंदिर पार्वती मंदिर परिसर का निर्माण किया था जिसे पुणे शहर का गौरव कहा जाता है।
  7. 1818 में अंग्रेजो ने मराठों को हराया और इस शहर पर अपना शासन कर लिया। इसके बाद 1857 में पुणे-मुंबई रेल ट्रैक और खडकवासला बांध का निर्माण किया गया। पुणे में पहली कपड़ा मिल 1893 में राजा बहादुर मोतीलाल पिट्टी द्वारा बनायी गयी थी।
  8. इस समय पुणे भारत की 7 वीं रैंकिंग वाली औद्योगिक नगरी है।

पुणे में घूमने की खास जगह –  Places To Visit In Pune

शिवनेरी किला –  Shivneri Fort 

शिवनेरी किला पुणे में देखने की सबसे खास जगह है। बता दें कि यह किला महान मराठा सम्राट शिवाजी का जन्म स्थान था और इसी जगह उन्होंने मराठा राजवंश के निर्विवाद राजा के रूप में अपनी भावी भूमिका के शुरुआती प्रशिक्षण लिया था। शिवनेरी किला 300 मीटर ऊंची एक पहाड़ी पर स्थित है जिसको देखने जाने के लिए आपको सात फाटकों को पार करना पड़ता है। इस किले के फाटकों से इस बात का पता चलता है कि उस समय इस किले की सुरक्षा कितनी अच्छी थी। शिवनेरी किले का सबसे खास आकर्षण अपनी मां जीजाबाई के साथ शिवाजी की एक मूर्ति है। अगर आप शिवनेरी किला देखने जाते हैं तो आप इसके साथ यहां भैरवगढ़, चावंड जीवधन और जुमनेर सहित शिवनेरी पहाड़ी के दूसरे किलो को भी देख सकते हैं।

पश्चिमी घाट पुणे –  Western Ghats

पुणे के पास स्थित पश्चिमी घाट प्रकृति प्रेमियों को एक सुखद और खास जगह है जिसे ‘यूनेस्को की विश्व विरासत स्थल’ का दर्जा मिला है। पुणे के आसपास घूमने की जगह पश्चिमी घाट में देखने के लिए पहाड़, घने जंगल, लुभावनी घाटियां, फूलों की विस्तृत श्रृंखला है, जो यहां आने वाले पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है। अगर आप पुणे शहर घूमने के लिए आये हैं और प्राकृतिक नजारों को देखना चाहते हैं तो पश्चिमी घाट की सुंदरता का आनंद लेना न भूलें।

आगा खान पैलेस –  Aga Khan Palace

पुणे में घूमने की जगह आगा खान पैलेस अपने नाम से बिलकुल अलग है आगा खान पैलेस में महात्मा गांधी, कस्तूरबा गांधी और महादेव भाई देसाई (गांधी के सचिव) को अगस्त 1942 और मई 1944 के बीच जेल में बंधी बनाकर रखा गया था। आगा खान पैलेस को सुल्तान मुहम्मद शाह आगा खान III ने वर्ष 1892 में बनाया था। इस पैलेस को पड़ोस में रहने वालों की मदद बनाया गया था, लेकिन इसके अकाल के समय बुरे प्रभावों का सामना करना पड़ा था। आगा खान ने इस महल को देश के लोगों को महात्मा गांधी के सम्मान के रूप में दान किया था। इस पैलस के चारों ओर हरे-भरे हरियाली के साथ यहां पर पर्यटक महात्मा गांधी, कस्तूरबा और गांधी के सचिव के स्मारकों को देख सकते हैं।

पार्वती हिल  –  Parvati Hill 

पार्वती हिल पुणे शहर का एक बहुत प्रसिद्ध हिल स्थल जो प्राचीन मंदिरों का घर है। यहां के चार मंदिर शिव, विष्णु, गणेश और कार्तिकेय को समर्पित हैं जो 17 वीं शताब्दी के हैं। समुद्र तल से 2100 फीट की ऊंचाई पर स्थित पार्वती हिल चोटी से कई शानदार दृश्य देखने को मिलते हैं। पहाड़ी पर बने हुए पार्वती संग्रहालय में आप कई पुरानी पांडुलिपियों, तलवारों, बंदूकों, सिक्कों और चित्रों के संग्रह को देख सकते हैं। इस संग्रहालय में पेशवा के शासकों के चित्र भी देखे जा सकते हैं

राजगढ़ का किला  – Rajgad Fort

पुणे में 4600 फीट की ऊंचाई पर पहाड़ी पर राजगढ़ किला है, जो 25 वर्षों से अधिक समय तक शिवाजी की राजधानी रहा है। अगर आप पुणे में घूमने की जगह राजगढ़ के किले को देखने जाते हैं तो आप एक शानदार ट्रेकिंग का अनुभव ले सकते है। यह किला बेहद उंचाई पर स्थित है इसलिए ट्रेकिंग करने के बाद आपका यहां रात भर रुकना अच्छा रहेगा इसके बाद आप सुबह किले की अच्छी तरह सैर कर सकते हैं। राजगढ़ किला कई ऐतिहासिक घटनाओं का साक्षी रहा है। अगर आप इतिहास के बारे में जानने के बारे रूचि रखते हैं तो आप इस जगह पर आकर काफी प्रभावित होंगे। अगर आप पुणे घूमने के लिए जा रहे हैं तो इस ऐतिहासिक किले की सैर जरुर करें।

लाल महल – Lal Mahal 

लाल महल पुणे शहर के बीच स्थित लाल ईंट की ऐसी संरचना है जो आपको अपनी ओर आकर्षित करती है। यह महल पुणे आने वाले पर्यटकों के बीच बेहद लोकप्रिय है। लाल महल का निर्माण 1643 ईस्वी में सम्राट शिवाजी के पिता शाहजी ने अपनी पत्नी और बेटे के लिए करवाया था। इस जगह पर शिवाजी तब तक रहे थे जब तक वे पहला किला नहीं जीते थे। यह स्थान उस घटना का साक्षी है जब शिवाजी ने शाइस्ता खान की उंगलियाँ काट दीं। पुणे के लाल महल की दीवारों पर कुछ चित्रों को सजाया गया है जो शिवाजी के जीवन की कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का चित्रण करते हैं।

राजा दिनकर केलकर संग्रहालय  –  Raja Dinkar Kelkar Museum 

राजा दिनकर केलकर संग्रहालय पुणे के सबसे ज्यादा देखे जाने वाले स्थलों में से एक है, जहाँ पर भारत के विभिन्न हिस्सों से कलाकृतियों के संग्रह है। डॉ डी जी केलकर इस संग्रहालय के पीछे के प्रमुख आदमी है। राजा दिनकर केलकर संग्रहालय राजा की स्मृति में बनवाया गया है जिनका एक मात्र पुत्र दुखद रूप से मारा गया था। यह संग्राहलय देश का दूसरा सबसे बड़ा संग्राहलय है, जो 21000 से अधिक विभिन्न युगों, जातियों, संस्कृतियों और परंपराओं का प्रतिनिधित्व करता है। इस संग्रहालय में कई तरह की लकड़ी की वस्तुएं, सिक्के, वस्त्र, हथियार, मूर्तियां, हाथी दांत की वस्तुएं, लेखन सामग्री, पेंटिंग और विभिन्न अन्य वस्तुओं का संग्रह है।

 द एम्प्रेस गार्डन पुणे – The Empress Garden 

द एम्प्रेस गार्डन 39 एकड़ भूमि में फैला हुआ गार्डन है जो आश्चर्यजनक रूप अंग्रेजों के शासन और उनकी शक्ति की याद दिलाता है। इस गार्डन का नाम अंग्रेजों ने महारानी विक्टोरिया के नाम रखा था जब उन्हें ‘भारत की महारानी’ का खिताब दिया गया। यह गार्डन पुणे के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में से एक है जो पर्यटकों द्वारा अक्सर देखा जाता है।

पेशवा उद्यान चिड़ियाघर  –  Peshwa Udyan Zoo 

पेशवा उद्यान चिड़ियाघर हरियाली से भरपूर पुणे में घूमने की एक ऐसी जगह है जिसे आप अपने पूरे परिवार के साथ घूम सकते हैं। इस चिड़ियाघर में पक्षियों, जानवरों और सरीसृपों की कई किस्में पाई जाती हैं। यह उद्यान सिर्फ वन्यजीवों का घर नहीं है बल्कि इसके परिसर के अंदर बच्चों के खेलने की जगह और मंदिर भी है। पेशवा उद्यान चिड़ियाघर के अंदर 17 वीं शताब्दी में निर्मित एक भगवान गणेश का मंदिर भी है जोजो बेहद ख़ास है। इस प्रकृतिक उद्यान में टॉय ट्रेन एक मुख्य आकर्षण है। अगर आप पुणे घूमने के लिए आ रहे हैं तो पेशवा उद्यान जू की यात्रा करना न भूलें

पुणे जाने के लिए सबसे अच्छा समय क्या है – What Is The Best Time To Visit Pune 

अगर आप पुणे की यात्रा करना चाहते हैं तो आप यहां मानसून और सर्दी दोनों मौसम में जा सकते हैं। जुलाई से फरवरी तक पुणे के मौसम काफी अच्छा रहता है, इसलिए यह महाराष्ट्र के इस विशाल शहर की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय है। दिसंबर के महीने में पुणे में सवाई गंधर्व संगीत महोत्सव का आयोजन होता है जो पूरे भारतीय शास्त्रीय संगीत प्रेमियों को आकर्षित करता है। गर्मियों के मौसम में पुणे का तपमान ज्यादा होता है, इसलिए गर्मियों में यहां जाने से बचना ही बेहतर रहेगा।

पुणे तक कैसे पहुंचे – How To Reach Pune

रोड मार्ग से पुणे कैसे पहुंचे  – How To Reach Pune By Road 

पुणे सड़कों और मेट्रो लाइन से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। अगर आप परिवहन के सबसे सस्ते साधनों से यात्रा करना चाहते हैं तो बस से पुणे यात्रा के लिए जाएं। बस से पुणे यात्रा के लिए टिकट ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से बुक कर सकते हैं। महाराष्ट राज्य सरकार के अलावा पुणे की निजी बसें भी दैनिक सेवाएं प्रदान करती हैं। पुणे के मुख्य बस स्टेशन चिंचवाड़ और पुणे (बाय-पास) हैं, इन दोनों बस स्टेशन पर बस मुख्य रूप से रूकती हैं।

 रेल मार्ग से पुणे कैसे पहुंचे  – How To Reach Pune By Train

पुणे रेल लाइन द्वारा देश के कई बड़े शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा है। पुणे में लोकल के साथ-साथ एक्सप्रेस ट्रेनें पूरे दिन चलती हैं। आपको भारत के सभी प्रमुख शहरों से पुणे के लिए ट्रेन आसानी से मिल जायेगी। ट्रेन आप ट्रेनों के बारे में जानकारी चाहते हैं तो ट्रेन की समय सारिणी को देख सकते हैं।

 हवाई मार्ग से पुणे कैसे पहुंचे –  How To Reach Pune By Airplane 

पुणे एयरपोर्ट शहर के केंद्र में स्थित है, जो कि एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां के लिए आपको दुनियाभर से उड़ाने मिल जाएगी, इसके अलावा आपको पुणे के लिए भारत के सभी बड़े प्रमुख हवाई अड्डों से फ्लाइट आसानी से मिल जाएगी।

Add comment

Must Get It ..