फिटनेस सूत्र

राजमा खाने के फायदे – Benefits Of Kidney Beans

0
kidney-beans

राजमा खाने के फायदे – Benefits Of Kidney Beans 

Benefits Of Kidney Beans – राजमा को उनके आकार के कारण किडनी बीन्स Kidney Beans कहा जाता है, जो पोषक पदार्थ (Kidney Beans Nutrition) का अच्छा स्रोत माना जाता है।

राजमा  का वैज्ञानिक नाम “फेसियोलस वल्गैरिस” है। किडनी बीन्स को उनके मीठे स्वाद और बनावट के लिए काफी पसंद किया जाता है। ये दुनिया भर में पसंदीदा खाने में से एक हैं। किडनी बीन्स साल भर उपलब्ध रहते हैं।

Kidney Beans Nutrition – किडनी बीन्स अमीनो एसिड, ग्लूकोनेोजेनेसिस, फैटी एसिड, लिपिड और हीमोग्लोबिन चयापचय को बनाए रखने में मदद करते हैं। इस प्रकार, यह स्वस्थ त्वचा को बनाए रखने में उपयोगी हो सकता है।

किडनी बीन्स बायोटिन, आयरन और प्रोटीन से भरे (Kidney Beans Nutrition) होते हैं जो बालों और नाखूनों को मजबूत बनाने के लिए आवश्यक होते हैं। बायोटिन नाखूनों और बालों के तेजी बढ़ने में सहायक है।

यह भी पढ़े –

राजमा के पोषक पदार्थ – Kidney Beans Nutrition

राजमा  में बहुत से पोषक पदार्थ (Kidney Beans Nutrition) होते हैं। 100 ग्राम राजमा में आपकी दैनिक जरूरतों का 33% फोलेट होता है। 333 कैलोरी, पोटेशियम 14 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 60 ग्राम, डाइटरी फाइबर 25 ग्राम, प्रोटीन 24 ग्राम, कैल्शियम 14%, विटामिन C 7%, विटामिन K (10%), विटामिन B-6 20%, मैग्निशियम 35%, आयरन (लोहा) 45% होता है।राजमा राइबोफ्लेविन, नियासिन और पैंटोथेनिक एसिड भी प्रदान करता है।। इस तरह राजमा स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है।

राजमा के प्रकार – types of kidney beans
  • Red Kidney Beans
  • White Kidney Beans

रेड किडनी बीन्स – Red Kidney Beans

रेड किडनी बीन्स (Red Kidney Beans) सबसे आम बीन्स है। इनकी बड़ी फलियों में गहरा लाल रंग, चमकदार त्वचा और दृढ़ बनावट होती है, जिससे वे सूप, स्टॉज, चिलिस और लंबे समय तक पकाने वाले अन्य व्यंजनों के लिए उपयुक्त हो जाते हैं।रेड किडनी बीन्स को कैनेलिनी बीन्स के रूप में भी जाना जाता है।

राजमा खाने के फायदे – Benefits of Red Kidney Beans 

  • राजमा खाने से शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह सुचारू रूप से हो जाता है।
  •  राजमा प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत है।
  • जो लोग अपने वजन को लेकर चिंतित रहते हैं वह आराम से राजमा में कैलोरी कम मात्रा में पाई जाती है,इस लिए ये वजन काम करने में सहायक है।
  • राजमा में विटामिन K पाया जाता है जो मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह हमारी याददाश्त को मजबूत बनाता है।
  • जिन लोगों को डायबिटीज (मधुमेह) की समस्या रहती है वह आसानी से राजमा खा सकते हैं क्योंकि इसमें शुगर ना के बराबर होती है।
  • राजमा में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।
  • राजमा खाने से हड्डी मजबूत होती है, नाखून चमकदार होते हैं, बालों का गिरना कम होता है। बाल लंबे काले और घने होते हैं।
  • राजमा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट यहाँ भी काम करता है और कैंसर से बचाता है ये फ्री रेडिकल्स को सुरक्षित रखता है, साथ ही विटामिन कोशिकाओं को सुरक्षित रखता है जो कैंसर का मुख्य कारण है।
रेड किडनी बीन्स के पोषक पदार्थ – Kidney Beans Nutrition value

Benefits Of Kidney Beans – किडनी बीन्स कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले फाइबर का एक अच्छा ऑप्शन हैं। कोलेस्ट्रॉल कम करने के अलावा यह प्रोटीन, फोलेट, आयरन, फॉस्फोरस, कॉपर और मैंगनीज का भी अच्छा स्रोत है। किडनी बीन्स का हाई फाइबर कंटेंट (Kidney Beans Nutrition) भोजन के बाद ब्लड शुगर लेवल को बहुत तेजी से बढ़ने से रोकती है।

किडनी बीन्स फैट फ्री हाई क्वालिटी वाला प्रोटीन प्रदान करती हैं। किडनी बीन्स आपके आयरन स्टोर को भरने में मदद करती हैं। किडनी बीन्स सॉल्युबल और इनसॉल्युबल फाइबर से भरपूर होती है जो हमारे डायजेस्टिव सिस्टम को अच्छा रखती है।

सफ़ेद किडनी बीन्स – White Kidney Beans

सफ़ेद किडनी बीन्स (white Kidney Beans) बड़ी होती है, पतली, गोरी त्वचा और कम स्वाद वाली होती है। नतीजतन, ये फलियां सलाद और व्यंजनों के लिए अधिक उपयुक्त हैं, रेड किडनी बीन्स की तुलना में सफ़ेद किडनी को कम पकाने की आवश्यकता होती है।सफेद किडनी बीन एक्सट्रैक्ट्स अब वजन घटाने (Benefits of Kidney Beans) के लिए बहुत कॉमन है। यह कार्बोहाइड्रेट अवरोधक के रूप में कार्य करता है और शुगर लेवल और फैटी मोलेक्युल्स को कम करता है।

सफ़ेद किडनी बीन्स के फायदे – Benefits of White Kidney Beans 

  • सफ़ेद किडनी बीन्स मौजूद पोटेशियम हमारे शारीरिक तरल पदार्थ और सोडियम को संतुलित करता है, मैग्नीशियम और फास्फोरस मजबूत हड्डियों में योगदान करते हैं।
  • सफेद किडनी बीन्स में विटामिन का मिश्रण होता है, जिसमें विटामिन बी, विटामिन ई और विटामिन के की थोड़ी मात्रा शामिल होती है।
  • इसमें जो सबसे इम्पोर्टेन्ट है वो विटामिन फोलेट है, जो डीएनए का उत्पादन करने के लिए होता है, यह गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।
  • टमाटर और पालक के साथ व्हाइट किडनी बीन्स खाना फायदेमंद होता है।
  • सफेद किडनी बीन्स में एंटी – इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती है, जो बीमारी से लड़ने में मदद करती है।
  • जब आप किसी भी फाइबर युक्त भोजन जैसे सफेद किडनी बीन्स का सेवन बढ़ाते हैं, तो खूब पानी पिएं।

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *