जीवन चिठ्ठा

इरफान खान का जीवन परिचय – Irrfan Khan Biography

0

इरफान खान का जीवन परिचय – Irrfan Khan Biography

Irrfan Khan Death : आज ही के दिन दिनांक 29 अप्रैल 2020 को मुंबई में उनकी अचानक तबियत बिगड़ी और मुंबई के ब्रीच केन्डी हॉस्पिटल में उन्होंने अपनी अंतिम साँस (Irrfan Khan Death) ली. JIOHIND कला के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान के लिए उन्हें सलाम करती है, एक अच्छे अभिनेता के साथ वे बहुत ही अच्छे इंसान भी थे.

इरफ़ान ख़ान (पूरा नाम मोहम्मद इरफ़ान खान) का जन्म मध्य प्रदेश के ग्वालियर  शहर में हुआ था। बॉलीवुड से हॉलीवुड तक अपने अभिनय की छाप छोड़ने वाले अभिनेता इरफान खान को आज पूरी दुनिया जानती हैं। ऑलराउंडर अभिनेता इरफान खान ने अपनी अभिनय के दम पर हर वर्ग के दर्शकों को प्रभावित किया है।

इरफान खान का अपना एक अलग अंदाज है, वो एक ऐसे कलाकार हैं कि अपने जबरदस्त अभिनय से किसी भी किरदार में जान डाल देते हैं। हाल ही में हॉलीवुड अभिनेता टॉम हैंक्स ने कहा कि इरफान की तो आंखें भी एक्टिंग करती हैं। उनके अलग अलग रोल्स की तरह उनकी लव स्टोरी भी काफी दिलचस्प है.

यह ही पढ़े – 

पूरानाम शाहबजादे इरफान अली खान
उप नाम इरफान
जन्म स्थान जयपुर, राजस्थान, भारत
जन्म तारीख 7 जनवरी, 1967
मृत्यु 29 April 2020
पिता का नाम यासीन अली खान
माता का नाम सईदा बेगम
कुल भाईबहन तीन
पत्नी का नाम सुतापा सिकदर
कुल बच्चे दो लड़के
पेशा अभिनेता और प्रोड्यूसर
पहली हिंदी फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’
लंबाई (Height) 6’0
वजन (Weight) 75 किलो
आंखों का रंग (Eye colour) काला रंग
बालों का रंग (Hair colour) काला रंग
कुल संपत्ति (Net worth) 80 करोड़ के करीब
इंस्टाग्राम https://www.instagram.com/irrfan/?hl=en
फेसबुक https://www.facebook.com/irrfanofficial/
ट्विटर https://twitter.com/irrfank?lang=en

इरफान खान का परिवार (Irrfan Khan Family)

इरफान खान का नाता राजस्थान राज्य के एक पठान परिवार (Irrfan Khan Family) से है. इनकी मां का नाम सईदा (Irrfan Khan Mother) बेगम है और इनकी मां का नाता इस राज्य के टोंक हाकिम परिवार से है. वहीं  इनके पिता का नाम (Irrfan Khan Son) यासीन है और वो एक कारोबारी थे, जिनका टायर का व्यापार हुआ करता था. इरफान के कुल तीन भाई बहन हैं, जिनमें से दो भाई हैं और एक बहन है.

उनके पिता टायर का व्यापार करते थे। पठान परिवार (Irrfan Khan Family) के होने के बावजूद इरफान बचपन से ही शाकाहारी हैं, उनके पिता उन्हें हमेशा यह कहकर चिढ़ाते थे कि पठान परिवार में ब्राह्मण पैदा हो गया। उन्होंने वर्ष 1984 में दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) में अभिनय का प्रशिक्षण लिया। उन्हें स्कॉलरशिप भी मिली। इरफान खान का शुरुआती दौर संघर्ष से भरा था। जब उनका एनएसडी में प्रवेश हुआ, उन्हीं दिनों उनके पिता की मृत्यु हो गई।

घर के आय का स्रोत ही समाप्त हो गया। उन्हें घर से पैसे मिलना बंद हो गया। जयपुर में पले-बढ़े इरफ़ान ख़ान एमए की पढ़ाई (Irrfan Khan Education) कर रहे थे, जब उन्हें नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में प्रशिक्षण के लिए स्कॉलरशिप मिला। उनके पास बस एनएसडी से मिलने वाली फेलोशिप ही सहारा थी।

साल 1995 में इरफान ने अपनी प्रेमिका से विवाह (Irrfan Khan Marriage) किया था जिनका नाम सुतापा सिकदर  है. सुतापा भी इरफान की तरह इस ड्रामा स्कूल की छात्रा थी और यहां से शुरू हुई इनकी ये दोस्ती प्यार में बदल गई थी.

इस शादी से इन दोनों को दो बेटे (Irrfan Khan Son) हुए थे जिनका नाम इन्होंने बाबिल और आयन रखा है. कहा जाता है कि इरफान की मुलाकात अपनी पत्नी (Irrfan Khan Wife) से ड्रामा स्कूल में हुई थी.

Irrfan Khan FaimlyIrrfan Khan Family

इरफान खान का करियर (Irrfan Khan TV Show)

स्थानीय अखबार दैनिक भास्कर और स्वदेश में सन 82-1989 तक कार्टून बनाते रहे। दिल्ली की श्रीधरणी आर्ट गैलरी में अपनी प्रदर्शिनी के दौरान वे नवभारत टाइम्स लखनऊ के लिये चुन लिये गए। 1994 में दिल्ली आकर इकोनोमिक टाइम्स, फ़ाइनेन्शिअल एक्स्प्रेस,एशियन ऐज, में स्टाफ़ कार्टूनिस्ट रहे।

2000 में ज़ी न्यूज़ में वरिष्ठ कार्टूनिस्ट के पद पर काम करते हुए अपना टाक शो शख्शियत होस्ट किया, 2003 में एनडीटीवी के शो गुस्ताखी माफ़ की स्क्रिप्ट लिखी और सहारा समय पर इतनी सी बात होस्ट किया। अब तक 3 संकलन प्रकाशित हो चुके हैं। एन्सीईआरटी के पाठ्यक्रम की पुस्तकों में इरफ़ान सहित देश के विभिन अन्य कार्टूनिस्टों के संपादकीय कार्टूनों को भी शामिल किया गया था।

जापान फ़ाउन्डेशन ने “एशियाई कार्टून प्रदशनी” के अपने वार्षिक कार्यक्रम के तहत, 2005 में नौवी प्रदर्शिनी के लिए प्रत्येक एशियाई देश से एक कार्टूनिस्ट के चयन हेतु भारत की ओर से इरफ़ान का चयन किया।

दिल्ली स्थित नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अभिनय में प्रशिक्षित होने के बाद इरफ़ान ख़ान  ने मुंबई का रूख किया। यहां आकर इन्होंने फिल्मों में काम खोजना शुरू कर दिया. इरफान के करियर के शुरुआती दिन काफी संघर्ष भरे थे. इन्हें फिल्मों की जगह टी.वी सीरियल में छोटे मोटे रोल मिलने लगे और इस तरह से इरफान के करियर की शुरुआत बतौर एक जूनियर एक्टर से हुई थी. लेकिन उसके बाद चाणक्य, चंद्रकांता, स्टार बेस्ट सेलर्स जैसे लोकप्रिय धारावाहिकों में इरफ़ान ख़ान के बेहतरीन अभिनय ने फिल्म निर्माता-निर्देशकों का ध्यान अपनी ओर खींचा।

इरफान कई हिंदी धारावाहिकों का हिस्सा रह चुके हैं और इनके द्वारा किए गए कुछ धारावाहिकों के नाम इस प्रकार हैं.

संख्या धारावाहिकों के नाम
1 चाणक्य
2 भरत एक खोज
3 साराजहां हमारा
4 बनेगी अपनी बात
5 चंद्रकांत
6 श्रीकांत
7 स्टार बेस्टसेलर्स
8 मानो या ना मानो

इरफान खान का फिल्म करियर (Irrfan Khan Film Career)

इरफ़ान ख़ान मौजूदा दौर के उन अभिनेताओं में हैं,जो स्वयं को फिल्मों में नायक की भूमिका के दायरे तक सीमित नहीं करते। वे यदि लाइफ इन ए मेट्रो, आजा नचले, क्रेजी 4 और सनडे जैसी फिल्मों में महत्वपूर्ण चरित्र भूमिकाएं निभाते हैं, तो मकबूल,रोग और बिल्लू में केंद्रीय भूमिका भी निभाते हैं। गंभीर अभिनेता की छवि वाले इरफ़ान ख़ान समय-समय पर हास्य-रस से भरपूर भूमिकाओं में भी दर्शकों के लिए उपस्थित होते रहे हैं।

इरफान खान नाम ही काफ़ी है. इनकी एक्टिंग का जादू सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं पूरी दुनिया के लोगों पर छाया हुआ है. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इन्होंने भी अपने जीवन की शुरुआत जूनियर कलाकार से की थी

साल 1988 में आई फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ में इरफान को एक छोटा सा रोल मिला था. लेकिन इरफान के इस रोल को फिल्म से हटा दिया गया था. इस फिल्म के बाद इरफान ने कई फिल्मों में छोटे-मोटे रोल किया लेकिन साल 2001 में आई ‘द वारियर’ फिल्म ने इनकी जिंदगी बदल दी और इस फिल्म से उनको पहचान मिली.

ये एक ब्रिटिश फिल्म थी जिसका निर्देशन आसिफ कपाड़िया ने किया था. ये फिल्म अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में भी प्रदर्शित की गई थी. इस फिल्म के बाद साल 2004 में आई ‘हासिल’ फिल्म में इरफान को एक नेगेटिव किरदार में देखा गया था और इस किरदार को भी इन्होंने बखूबी से निभाया था.

‘रोग’ फिल्म में मिला लीड रोल

साल 2005 में इरफान खान को बतौर लीड रोल अपनी पहली फिल्म मिली थी और इस फिल्म का नाम ‘रोग’ था. इस फिल्म में खान ने एक पुलिस ऑफिसर की भूमिका निभाई थी. हालांकि ये फिल्म कामयाब फिल्म साबित नहीं हुई थी. लेकिन इरफान के अभिनय ने सभी को हैरान कर दिया था और हर किसी ने इनके अभिनय की काफी तारीफ की थी और कहा था कि इरफान की आंखें भी एक दमदार अभिनय करती हैं. इस फिल्म के बाद इरफान को कई और फिल्मों में कार्य करने का मौका मिला.

साल 2007 में आई मल्टी स्टार फिल्म ‘लाइफ इन ए मेट्रो’ का हिस्सा इरफान भी थे और इस फिल्म में इरफान द्वारा किए गए अभिनय को फिर से लोगों द्वारा पसंद किया गया.  इस फिल्म में उनकी जोड़ी कोंकणा सेन के साथ नजर आई थी. इस फिल्म के बाद इरफान को एसिड फैक्ट्री, न्यूयॉर्क, पान सिंह तोमर, हैदर, पीकू, तलवार, जज्बा, हिंदी मीडियम सहित कई फिल्मों में देखा गया था और इन फिल्मों के लिए इन्हें कई अवार्ड भी मिले थे.

हॉलीवुड में भी किया है काम (Irrfan Khan Hollywood Movies)

इरफान का नाम उन भारतीय अभिनेताओँ में गिना जाता है, जिन्होंने भारतीय सिनेमा के साथ-साथ विदेशी सिनेमा यानी हॉलीवुड में भी कार्य किया हुआ है. इरफान ने बॉलीवुड सहित कई हॉलीवुड फिल्मों में भी दमदार प्रदर्शन किया है और उनके द्वारा की गई कुछ हॉलीवुड फिल्मों के नाम इस प्रकार हैं.

संख्या फिल्मों के नाम
1 सच अ लॉन्ग जर्नी(1988)
2 द नेमसेक (2006)
3 ए माइटी हार्ट (2007)
4 दार्जीलिंग लिमिटेड (2007)
5 स्लमडॉग मिलियनेयर (2008)
6 लाइफ ऑफ पाई (2012)
7 द अमेजिंग स्पाइडर मैन (2012)
8 जुरासिक वर्ल्ड (2015)
9 इन्फर्नो (2016)

इरफान खान को मिले पुरस्कार (Awards And Achievement Details)

  • इरफान खान को भारत सरकार द्वारा पद्म श्री अवार्ड दिया जा चुका है. ये अवार्ड इन्हें साल 2011 में दिया गया था, ये अवार्ड इन्हें बॉलीवुड में किए गए इनके कार्यों के लिए दिया गया था.
  • इस अभिनेता को इनका पहला फिल्मफेयर खिताब नेगेटिव किरदार के लिए दिया गया था और ये खिताब इन्हें साल 2003 में ‘हासिल’ मूवी के लिए मिला था.
  • साल 2007 में खान को ‘लाइफ इन मेट्रो’ फिल्म के लिए फिल्मफेयर अवार्ड दिया गया था. ये अवार्ड इन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए दिया गए था और इसी फिल्म के लिए इन्हें 2008 में IIFA पुरस्कार भी दिया गया था.
  • साल 2012 में इरफान ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए अपना पहला राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था और इन्हें ये अवार्ड इनकी फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए दिया गया था. इस फिल्म के लिए इरफान को फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड भी मिल चुका है.
  • साल 2013 में इरफान खान को उनकी मूवी लंच बॉक्स के लिए दुबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह, एशिया प्रशांत फिल्म समारोह और एशियाई फिल्म समारोह में अवार्ड दिए गए थे.
  • स्लमडॉग मिलियनेयर के लिए इरफान को सेंट्रल ओहियो फिल्म क्रिटिक्स एसोसिएशन की और से सर्वश्रेष्ठ एन्सेबल अवार्ड दिया गया था. वहीं पीकू फिल्म के लिए भी इरफान मेलबर्न के भारतीय फिल्म महोत्सव में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अवार्ड दिया गया था.
  • मूवी ‘हिंदी मीडियम’ में इरफान ने राज नाम के व्यक्ति का रोल किया था और इस रोल के लिए इन्हें हाल ही में फिल्मफेयर में बेस्ट ऐक्टर का खिताब दिया गया है.

इरफान खान से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण बातें (Irrfan Khan unknown facts)

  • पहले क्रिकेटर बनना चाहते थे– इरफान खान ने कभी- भी एक अभिनेता बनने का सपना नहीं देखा था और कहा जाता है कि वो एक क्रिकेटर बनना चाहते थे. लेकिन इरफान की किस्मत में कुछ और ही लिखा हुआ था और आज वो क्रिकेटर की जगह एक अभिनेता बन गए हैं.
  • अपने नाम में जोड़ा‘R’– इरफान खान अंग्रेजी में अपने नाम को Irfan की जगह Irrfan लिखते हैं. कई लोगों को लगता है कि अंकज्योतिष के कारण इरफान ने अपने नाम में एक और ‘R’  जोड़ा है. लेकिन इरफान का कहना है कि उन्हें अपने नाम में ‘R’ का साउंड अच्छा लगता है. इसलिए इन्होंने अपने नाम में एक और ‘R’ जोड़ा दिया था.
  • खान नाम के चलते हुए परेशानी– इरफान खान के नाम के पीछे खान लगने के चलते इन्हें दो बार अमेरिका के एयरपोर्ट पर रोक लिया गया था और कई देर तक पूछताछ करने के बाद इन्हें जाने दिया गया था.
  • ऑस्कर विजेता फिल्मों में किया है काम– स्लमडॉग मिलियनेयर और लाइफ ऑफ पाई फिल्म ने कई ऑस्कर अवार्ड जीते हैं. इन दोनों मूवी में इरफान खान ने काम किया हुआ है और इसी के साथ इरफान भारत के पहले ऐसे अभिनेता हैं जो दो ऑस्कर विजेता मूवी हिस्सा का रहे हैं.
  • इरफान खान की संपत्ति की जानकारी (irrfan khan net worth detail) – इरफान खान एक फिल्म करने के लिए 12 से 14 करोड़ रुपए लिया करते हैं. मुंबई में इरफान का अपना एक फ्लैट है जिसमें ये अपने परिवार के साथ रहते हैं. इस फ्लैट की कीमत 5 करोड़ रुपए है. इरफान के पास कुल चार गाड़ियां भी है. इरफान किसी भी ब्रांड का हिस्सा बनने के लिए कम से कम 3 करोड़ रुपए लिया करते हैं. इस वक्त इनके पास कुल 80 करोड़ रुपए के करीब की संपत्ति मौजूद है.

गंभीर बीमारी से थे ग्रस्त (Irrfan Khan Health Issues)

इरफ़ान खान न्यूरो एंड्रॉन ट्यूमर (NeuroEndocrine Tumour) नामक बीमारी से ग्रसित थे, हाल ही में उन्होंने लंदन से अपना इलाज करवाया था. और उसके बाद उनकी अंतिम फिल्म इंग्लिश मीडियम भी की, लेकिन दिनांक 29 अप्रैल 2020 को मुंबई में उनकी अचानक तबियत बिगड़ी और मुंबई के ब्रीच केन्डी हॉस्पिटल में उन्होंने अपनी आज ही के दिन अंतिम साँस ली | JIOHIND.COM उन्हें सलाम करती है, कला के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान के लिए, एक अच्छे अभिनेता के साथ वे बहुत ही अच्छे इंसान भी थे, हम सभी उनकी एक्टिंग देख कर उन्हें सदैव याद करते रहेंगे |

You may also like

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *